पितृ दोष और उपचार (Pitra Dosha and its Remedies)

pitra-doshaमृत्यु के पश्चात संतान अपने पिता का श्राद्ध नहीं करते हैं एवं उनका जीवित अवस्था में अनादर करते हैं तो पुनर्जन्म में उनकी कुण्डली में पितृदोष ( Pitra dosha) लगता है. सर्प हत्या या किसी निरपराध की हत्या से भी यह दोष लगता है.पितृ दोष को अशुभ प्रभाव देने वाला माना जाता है. इस दोष की स्थिति एवं उपचार क्या है आइये देखते हैं.

कुण्डली में पितृ दोष: (Pitra Dosha in the Kundali)
सूर्य को पिता माना जाता है. राहु छाया ग्रह है (Rahu is a shadow planet). जब यह सूर्य के साथ युति (combination of Rahu and Sun) करता है तो सूर्य को ग्रहण लगता है इसी प्रकार जब कुण्डली में सूर्य चन्द्र और राहु मिलकर किसी भाव में युति बनाते हैं ( conjunction of Rahu, Sun and Moon) तब पितृ दोष लगता है. पितृ दोष होने पर संतान के सम्बन्ध में व्यक्ति को कष्ट भोगना पड़ता है. इस दोष में विवाह में बाधा, नौकरी एवं व्यापार में बाधा एवं महत्वपूर्ण कार्यों में बार बार असफलता मिलती है.

कुण्डली में पितृ दोष के कई लक्षण बताए जाते हैं जैसे चन्द्र लग्नेश (Moon's lord of the ascendant) और सूर्य लग्नेश (Sun's lord of the ascendant) जब नीच राशि (Debilitated sign) में हों और लग्न में या लग्नेश के साथ युति (combination) या दृष्टि (aspect) सम्बन्ध बनाते हों और उन पर पापी ग्रहों (malefic planet) का प्रभाव होता है तब पितृ दोष लगता है. लग्न व लग्नेश कमज़ोर (combusted ascendant or lord of the ascendant) हो और नीच लग्नेश के साथ राहु और शनि का युति और दृष्टि सम्बन्ध होने पर भी यह स्थिति बनती है. अशुभ भावेश (inauspicious lord of a house) शनि चन्द्र से युति या दृष्टि सम्बन्ध बनाता है अथवा चन्द्र शनि के नक्षत्र या उसकी राशि में हो तब व्यक्ति की कुण्डली पितृ दोष से पीड़ित होती है.

लग्न में गुरू नीच (combusted Jupiter) का हो और उस पर पापी ग्रहों का प्रभाव पड़ता हो अथवा त्रिक भाव (trine house) के स्वामियो से बृहस्पति दृष्ट या युति बनाता हो तब पितर व्यक्ति को पीड़ा देते हैं. नवम भाव में बृहस्पति और शुक्र की युति बनती हो एवं दशम भाव में चन्द्र पर शनि व केतु का प्रभाव हो तो पितृ दोष वाली स्थिति बनती है. शुक्र अगर राहु अथवा शनि और मंगल द्वारा पीड़ित होता है तब पितृ दोष का संकेत समझना चाहिए. अष्टम भाव में सूर्य व पंचम में शनि हो तथा पंचमेश राहु से युति कर रहा हो और लग्न पर पापी ग्रहों का प्रभाव हो तब पितृ दोष समझना चाहिए.

पंचम अथवा नवम भाव में पापी ग्रह हो या फिर पंचम भाव में सिंह राशि हो और सूर्य भी पापी ग्रहों से युत या दृष्ट हो तब पितृ दोष की पीड़ा होती है. कुण्डली में द्वितीय भाव, नवम भाव, द्वादश भाव और भावेश पर पापी ग्रहों का प्रभाव होता है या फिर भावेश अस्त या कमज़ोर होता है और उनपर केतु का प्रभाव होता है तब यह दोष बनता है. जिनकी कुण्डली में दशम भाव का स्वामी त्रिक भाव (trikha house)में होता है और बृहस्पति पापी ग्रहों के साथ स्थित होता है एवं लग्न और पंचम भाव पर पाप ग्रहों का प्रभाव होता है उन्हें भी पितृ दोष के कारण कष्ट भोगना होता है.

पितृ दोष उपचार (Remedies of Pitra Dosha)
जिनकी कुण्डली में पितृ दोष है उन्हें इसकी शांति और उपचार कराने से लाभ मिलता है. पितृ दोष शमन के लिए नियमित पितृ कर्म करना चाहिए अगर यह संभव नहीं हो तो पितृ पक्ष में श्राद्ध करना चाहिए. नियमित कौओं और कुत्तों का खाना देना चाहिए. पीपल में जल देना चाहिए. ब्राह्मणों को भोजन कराना चाहिए. गौ सेवा और गोदान करना चाहिए. विष्णु भगवान की पूजा लाभकारी है.

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

287 Comments

1-10 Write a comment

  1. 15 September, 2016 11:20:13 PM ANIL KUMAR

    Panditji namaste may ANIL KUMAR dob 07.07.1983 born.Delhi time 1:pm afternoon hai. sir mero kundli mai pitra dosh hai ya nahi mujhe bataney ki kripa karye

  2. 30 August, 2016 12:52:00 PM OM PRAKASH SHARMA

    DOB 25.5.1957 TIME 7.00AM POKHRAN(RAJSTHAN) MAI ABHI TAK MERE AAY KA STHAI SADHAN NAHI HO PAYA HAI MUJHE KYA KARNA CHAHIA

  3. 23 August, 2016 06:24:10 AM Pitega bahut

    Varun Teri to Wo gand Tutegi ki Sambhalna mushkil ho jayega... Or Fb band karke ghanta bachega tu hahahaha.... Aaj nahi to kal I will Come.....................................

  4. 15 August, 2016 11:23:40 PM dddd

    Meri sadi ho chuki pati bhut dukh deta he plz upay bataye

  5. 06 August, 2016 09:46:10 PM vinod kumar pandey

    Vinod kumar pandey DOB_22/12/1992Place_ghazipur upTime_09:45 pmKya mre upar koi grah ya badha chal rhi hai guru jeeOur mere nukari nahi lag rahi hai iske koi upay btaia guru jeeM.N._8604507258

  6. 29 July, 2016 03:25:42 AM neelendra singh

    meri date of birth 11 march 1984 hai time of birth 3.20 subah place of birth rewa mp.

  7. 27 July, 2016 12:46:49 AM Rohit kumar Rajoria

    Pandit G m bahut preshan Hu.D.o.B. 26/05/1991Time. 9:27AMName Rohit Kumar RajoriaPandit g kpya muje btaye Ki muje sarkari naukari milegi Ki nhi.yadi milegi to kab tak. Anytha private sector m hi job Ki jay. Hamari aarthik stithi bahut kharab h .krpya koi upay btaye. aur gov't job k liye kis kshetra m try karu.Guru plzzzzz batane ka kst kre aapki ati krapa hogiPrnam guru g.

  8. 20 July, 2016 08:22:03 AM pardeep saini

    sir mein bhut duki hu mera pura parivar bimari se jujra hai kripa shmadan bataye 9-02-1985 bron time 8:45 pm pardeep kr saini

  9. 18 July, 2016 04:13:12 AM parveen

    mera janam pitro ki amayashya ko houa tha ye mere liya good hai bad

  10. 18 July, 2016 01:34:14 AM Rakesh Kumar

    panditji pranam , mai Rakesh dob 04/06/1976 , meri job nahi lag 3 machine ho gye he , or mere pitaji or Bhai Kee bhi tabiyat thin nahi chal rahi he koi upay batao aap Kee bahut kirpya hoginamaskarRakesh kumar