क्या कहती है भाग्य रेखा (What does the line of fate say?)



जब कोई अवसर हमारे हाथ से निकल जाता है तो हम कहते है कि "यह हमारे भाग्य में नहीं था" इसलिए यह नहीं हुआ और हम अपने भाग्य को कोसते हैं। भाग्य को दोष देने से पहले आप यह देखिये की आपकी हथेली में भाग्य रेखा क्या कह रही है।

हस्त रेखीय ज्योतिषशास्त्र में बताया गया है कि बनावट की दृष्टि से भाग्य रेखा लगभग सात प्रकार की होती है और उनका अलग अलग प्रभाव होता है। बनावट की दृष्टि से भाग्य रेखा के प्रकार क्रमश: इस प्रकार

1.गहरी रेखा (Deep Fate line):
 हाथ में भाग्य रेखा गहरी है तो यह इस बात का संकेत है कि आपको अपने भाग्य की मदद से पैतृक सम्पत्ति और विभिन्न प्रकार के लाभ मिलेंगे। आपकी उन्नति में आपके बुजुर्गों का सहयोग रहेगा।

2.कमज़ोर रेखा (Light Fate line) :
भाग्य रेखा कमज़ोर होने से इस बात का संकेत मिलता है कि आपको जीवन में असफलताओं एवं मुश्किलों का सामना करना होगा। आपकी जिन्दग़ी में निराशा के बादल छाये रहेंगे। लेकिन अगर आपके हाथ में सूर्य रेखा मजबूत है तो आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं, इसी प्रकार अन्य रेखाओं एवं पर्वतों के प्रभाव से भी परिणाम बदल सकता है।

3.विभाजित रेखा (Divided Fate Line): 
भाग्य रेखा अगर दो भागों में विभाजित हो या टूटकर अंग्रेजी के Y की तरह दिखे तो यह द्वंद की स्थिति बनाता है यानी आप आप अपना लक्ष्य लक्ष्य सही प्रकार से निर्घारित नहीं कर पाते हैं और मन में उठते विचारों से लड़ते हैं। एक शब्द में कहें तो आप दो नाव की सवारी करते हैं।

4.आड़ी तिरछी रेखा (Zig Zag Fate Line):
हथेली में भाग्य रेखा अगर आड़ी तिरछी हो तो समझ लीजिए आपकी जिन्दग़ी में काफी उतार-चढ़ाव व परिवर्तन आने वाला हैं। आप जीवन में संघर्ष और बाधाओं को पार करके ही अपने भाग्य का फल प्राप्त कर पाएगे। आपको आसानी से कुछ भी मिलने वाला नहीं है। इस प्रकार की रेखा यह भी बताती है कि आप निर्णय की घड़ी में उहापोह में रहते हैं अर्थात क्या करें क्या न करें वाली स्थिति आपकी हो जाती है।

5.टूटी रेखा (Broken Fate Line):
भाग्य रेखा अगर टूटी हुई है तो जहां पर यह रेखा टूटी है वहां पर आपको खतरा हो सकता है अर्थात उस उम्र में आपके साथ कोई दुर्घटना घट सकती है अथवा आप गंभीर रूप से बीमार हो सकते हैं। कुल मिलाकर कहा जाय तो उम्र के इस पड़ाव में कुछ भी ऐसा हो सकता है जिससे जीवन पर संकट आ सकता है। आपका यह समय कष्टमय रहेगा।

6.जंजीरदार या लहरदार रेखा (Chained Fate Line): 
भाग्य रेखा जंजीरदार या लहरदार हो तो  यह इस बात का संकेत है कि आपके कार्यो में उतार चढ़ाव बना रहेगा, आप सफलता और असफलता के बीच हिचकोले खाते रहेंगे। आपका काम कभी तो असानी से बन जाएगा तो कभी छोटा मोटा काम निकलवाने के लिए भी आपको कड़ी मेहनत करनी होगी।

7.अदृश्य रेखा(Invisible Fate Line) :
 यह जरूरी नहीं कि जिनकी हथेली में भाग्य रेखा होती है उन्हीं का भाग्य होता है, जिनकी हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है उनका भी भाग्य होता है ऐसा हस्त रेखा विज्ञान कहता है। जिनकी हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है उनका भाग्य अन्य रेखाओं के आंकलन के आधार पर ज्ञात किया जाता है। कह सकते हैं कि, जिनकी हथेली में भाग्य रेखा नहीं दिखती हो उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है।

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

7 Comments

1-10 Write a comment

  1. 02 July, 2010 08:48:23 AM eram

    hamari shadi ko 4 saal ho gai hain hame bachcha nahi ho raha hai

  2. 01 June, 2010 10:42:56 AM Mahendra prajapat

    phone pr apna bhavisya janiye aur apani samaysa ka samadhan karvaiye contact number: 9352801193 (jodhpur) deviupasak@yahoo.in

  3. 07 December, 2009 03:02:54 AM LAL CHAND

    I want to know more about hast rekha shstra. Please sent more material on my ID. Thanx

  4. 01 September, 2009 05:56:59 AM kanchan

    please give me more details about hasta sashtra thanks & Regards Kanchan

  5. 21 June, 2009 04:03:10 AM sohan lal parte

    dear friend, mera hath ki rekha kuch alag hi hai es barey me mughse mere e-mail me mail karey. thank you your friend sohan lal parte

  6. 28 May, 2009 11:31:03 AM Deep Saini

    Very Good Written, Pls. always writing. Thanks & Regards Deep Saini.

  7. 11 April, 2009 10:15:48 AM piyush

    bhagya