नवग्रह रत्न मोती और पन्ना (Gemstone Pearl and Emerald)



नवग्रह रत्न सिर्फ सौन्दर्य वर्द्धक ही नहीं होते हैं बल्कि इनमें ज्योतिषीय  शक्तियां भी होती है. ये ग्रहों से उनकी उर्जा को अवशोषित करते हैं

नवग्रह रत्न धारण करने वालों को अच्छा और बुरा प्रभाव देते हैं.अत: इसे धारण करने से पहले ज्योतिषशास्त्री अथवा रत्न विशेषज्ञ की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए.

मोती की ज्योतिषीय विशेषता  Astrological Characteristics of Pearl 
मोती चन्द्रमा का रत्न है.मोती के कई प्रकार हैं.आमतौर पर जो मोती मिलते हैं वह सीप से प्राप्त होता है परंतु शास्त्रों में बताया गया है कि यह हाथी से भी प्राप्त होता जिसे गज मुक्ता कहते हैं.सर्प से मणि के रूप में एवं बांस से बांसलोचन के रूप में प्राप्त होता है.मोती को प्रेम का प्रीतक माना जाता है.यह सौम्य और शांत प्रकृति का होता है.मोती सफेद, चांदी की तरह चमकीला, गुलाबी, नीला, पीला एवं काला भी होता है.सभी प्रकार के मोती की अपनी विशेषता होती है.

मोती धारण करने से ज्योतिषीय लाभ Astrological Benefits of wearing Pearl
ज्योतिषीय मान्यताओं के अनुसार जिन लोगों को क्रोध जल्दी आता है उन्हें मोती धारण करने से लाभ मिलता है.यह मानसिक शांति प्रदान करने के साथ ही एकाग्रता बढ़ाने में भी कामयाब होता है.संतानहीन व्यक्तियों को मोती धारण करने से संतान सुख की प्राप्ति होती है.ज्योतिषीय मान्यताओ के अनुसार यह मान प्रतिष्ठा एवं धन व वैभव दायक होता है.मोती रोग शमन करने की भी क्षमता रखता है.बुखार में मोती धारण करना लाभप्रद रहता है.

यह हृदय गति को सामान्य बनाए रखता है.आंत्रशोथ, अल्सर एवं पेट सम्बन्धी कई अन्य बीमारियों में भी काफी असरकारी होता है.मोती के संदर्भ में ऐसी मान्यता भी है कि जो व्यक्ति शुद्ध मोती धारण करते हैं उन पर देवी लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है अर्थात व्यक्ति धनवान होता है.पति पत्नी के बीच अगर दूरी बढ़ रही हो तो मोती धारण करने से सम्बन्ध में सुधार होता है.

मोती अलग अलग रंगों में पाया जाता है और इनकी अपनी विशेषता होती है.पीली आभा युक्त मोती धारण करने से धन लाभ होता है.लाल रंग का मोती बौद्धिक क्षमता को बढ़ाता है.सफेद मोती प्रसिद्धि दायक होता है और नीली अभायुक्त मोती ईश्वरीय कृपा प्रदान करने वाला होता है.

पन्ना की ज्योतिषीय विशेषता  Astrological Characteristics of Emerald
पन्ना बुध ग्रह का रत्न है.जिनकी कुण्डली में बुध कमज़ोर होता है उन्हें पन्ना धारण करने से लाभ होता है.पन्ना कई रंगों में पाया जाता है लेकिन सब में हरे रंग की आभा झलकती रहती है जैसे तोते के पंख के समान हरा, मोर पंख के समान हरा, संदुल पुष्प के समान हरा, पारदर्शी हरा.ज्येतिषशास्त्र और रत्नशास्त्र के अनुसार चमकीला, आभायुक्त, जल के समान पारदर्शी और दाग एवं धब्बा रहित पन्ना उत्कृष्ट होता है.आम तौर पर दोष रहित पन्ना अत्यंत दुर्लभ होता है.

यह बहुत ही नरम पत्थर होता है अत: कटिंग के समय इसमें दरारें आने की संभावना अधिक रहती है.बाजार में विशेष प्रकार के रासायनों का प्रयोग करके इन दरारों को छुपा दिया जाता और इसकी सुन्दरता को बढ़कर दोष रहित पन्ना के मूल्य में बेचा जाता है अत: खरीदते समय अच्छी तरह परख कर ही पन्ना खरीदना चाहिए.

पन्ना धारण करने से ज्योतिषीय लाभ  Astrological Benefits of wearing Emerald
पन्ना को दयालुता और प्रेम का प्रतीक माना जाता है.प्रेमी के द्वारा उपहार स्वरूप पन्ना प्राप्त करना भाग्य को प्रबल बनाता है.मिथुन राशि वालों के लिए पन्ना बहुत ही शुभ फलदायी होता है.इसे धारण करने से स्वास्थ्य लाभ मिलता है.धन और खुशी के लिए भी पन्ना धारण करना लाभप्रद होता है.पन्ना सर्पदंश की संभावना को कम करता है.

बुरी नज़र और बुरी आत्माओं से रक्षा करता है.गर्भवती महिला अगर पन्ना धारण करती हैं तो प्रसव वेदना से राहत मिलती है.मानसिक अशांति, रक्त संचार में परेशानी, स्नायु विकार में पन्ना फायदेमंद होता है.इसे धारण करने से सहनशीलता और मानसिक स्थिरता का विकास होता है.
ज्योतिष के अनुसार आपके लिये कौन सा रत्न शुभ है? astrobix.com पर जाकर अपने लिये मुफ्त सलाह लीजिये

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)