राहु महादशा में कालसर्प दोष (Kalsarpa Dosha in Rahu Mahadasha)



काल सर्प  दोष को ज्योतिषशास्त्र में साढ़े साती की तरह महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है (The Kalsarpa Yoga is considered as malefic as the Sadesati).यह योग जिस व्यक्ति की कुण्डली में होता है वह राहु की दशा में आसमान की बुलंदियों को छूता है तो राहु की अशुभ दशा में दु:ख एवं कष्ट भोगता है.
कालसर्प  दोष जिनकी कुण्डली में होता है उन्हें राहु की महादशा कैसे प्रभावित करती है आइये इसे देखें.

ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक राहु की महादशा संघर्षपूर्ण होती है (Jyotisha says that the Rahu Mahadasha is full of struggle).इसकी महादशा जब चलती है तो जीवन में तेजी से उतार चढ़ाव आता है.राहु की दशा का फल बहुत जल्दी मिलने लगता है.जिनकी कुण्डली में कालसर्प योग होता है उन्हें इस ग्रह की दशा में विशेष रूप से परेशानी और कष्ट उठाना होता है.

गोचर में राहु की महादशा कालसर्प वालों के लिए विशेष पीड़ा दायक होता है (Rahu Mahadasha is more inauspicious for those who have Kalsarpa Yoga). जब इसकी दशा आती है व्यक्ति को मुश्किल हालातों से दो चार होना पड़ता है। क्या आपकी कुंडली में कालसर्प  दोष है?  अभी पता करने के लिये यहां क्लिक करें

राहु को सर्प का सिर और केतु को पूंछ माना गया है जब कुण्डली में सभी ग्रह इनके बीच में आ जाते हैं तो कालसर्प योग ग्रहों को निगल लेता है.कालसर्प के पेट में जाने के बाद शुभ योग और ग्रह भी कमज़ोर हो जाते हैं और इसका पूरा प्रभाव राहु की महादशा के दौरान मिलता है.

जन्मपत्री में कालसर्प योग है और राहु की महादशा चल रही है तो इस समय जीवन निराशा और घोर पीड़दायक महसूस होगा.इस समय जीवन की गाड़ी आप सीधी राह ले जाना चाहेंगे परंतु हर चीज़ उल्टी होगी.आपको अपनी मेहनत का अंश मात्र फल मिलेगा एवं हर ओर से आपको नुकसान ही नुकसान महसूस होगा.लेकिन अगर आप इस समय धैर्य धारण करके राहु की उपासना करें तो आप विपरीत स्थिति में कुछ राहत महसूस करेंगे.

राहु की दशा महादशा में जहां भयंकर कष्ट होता है वहीं जब इसकी दशा उतरती है तो तेजी से शुभ परिणाम मिलने लगता है.यह दशा व्यक्ति को इतना परिश्रमी और संघर्षशील बना देती है कि व्यक्ति मुश्किल हालातों के साथ कामयाबी की राह पर चलना सीख जाता है और महान उपलब्धियां हासिल करता है.

राहु की महादशा में जो हार मान कर बैठ जाता है उसका जीवन राहु कष्टमय बना देता है इसलिए अगर आपकी कुण्डली में कालसर्प योग है और राहु की महादशा अन्तर्दशा में मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ रहा है तो मन को स्थिर रखें और शुभ समय का इंतजार कीजिए आपको शुभ परिणाम अवश्य मिलेगा.

Get detailed Kalsarpa Analysis from http://astrobix.com/horoscope/kalsarpayoga

अन्य संबन्धित लेख

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)