शनि का कन्या राशि मे प्रवेश : कितना शुभ कितना अशुभ (Saturn's Transit into Virgo)



शनि 10 सितम्बर 09 को अपनी राशि बदल रहे है. इस समय मे शनि कन्या राशि (Shani Gochar in Kanya Rashi) मे प्रवेश करेगे. तथा जिसके फलस्वरुप तुला राशि की साढेसाती (Shani Sade Sati for Tula Rashi) आरम्भ हो जायेगी. यह समय तुला राशि के व्यक्तियों के लिए भरपूर मेहनत कर लाभ पाने का रहेगा. तुला राशि मे चढती साढेसाती रहेगी. आने वाले पूरे पांच साल तुला राशि के लिए अच्छे रहेगे.

कन्या राशि के व्यक्तियों के लिए यह समय मध्य साढेसाती तथा सिंह राशि के लिए यह समय उतरती साढेसाती का रहेगा.  इन ढाई सालो मे कन्या राशि से शनि अपनी तीसरी दृष्टि से वृ्श्चिक राशि, सांतवी दृष्टि से मीन राशि व दसवी दृ्ष्टि से मिथुन राशि को देखते है. इन तीनो राशियों मे से मिथुन राशि के लिए यह समय अपने किये गये कामो के फल पाने का रहेगा. अन्य के लिए परेशानी होने की संभावना बनी हुई है.

कन्या, तुला व सिंह तीनो राशियों मे से शुरु के ढाई साल कन्या राशि (Shani Sade Sati in Kanya Rashi) के लिए घातक रहने की संभावना है. तुला राशि के लिए शनि की साढेसाती  (Shani Sade Sati in Tula Rashi) के आरम्भ के पांच साल अच्छे रहेगे. पर अन्त के ढाई साल कष्टकारी रहेगे. सिंह राशि के व्यक्ति अब शनि से मिलने वाले कष्टो मे कमी महसूस करेगे (The people of Leo sign will have a fall in their problems).

शनि के चरण (Saturn Charan )
इस अवधि मे शनि कन्या राशि (Shani in Kanya Rashi) मे रहेगे. कन्या राशि के व्यक्तियों के लिए यह समय साढेसाती का दूसरा चरण रहेगा (This is the 2nd phase of Sadesati for the people of Virgo sign). इस चरण मे शनि कन्या जातको को अपने व्यवसाय से लाभ उठाने के अनेक अवसर देगा जिसे आप अपनी मेहनत व बुद्धिमता से लाभ उठाने मे सफल हो सकेगे. आर्थिक स्थिति मे पहले की अपे़क्षा सुधार आने की संभावना रहेगी.

कन्या राशि के जातकों पर प्रभाव
कन्या राशि के जातकों के लिए इस समय मे यात्रा करते समय विशेष सावधानी रखनी आवश्यक है. एसा करने से कष्टों को टाला जा सकेगा. दाम्पत्य जीवन के लिए यह समय कुछ अच्छा नही रहेगा. व्यक्ति को तनाव व निराशा से बचते हुए अपने जीवन साथी को पूरा समय देने का प्रयास करना चाहिए. इससे संकट की यह घडी टल जायेगी.

इस ढाई साल के समय मे संचार के साधनो मे खास कर परेशानी आने की संभावनाए बन रही है. कम्प्यूटर व बिजली के साधनो मे भी रुकावटे विशेष रुप से देखी जा सकेगी (There may be an increased amount of problems in electronics during this time). शनि क्योकी एक मन्द गति ग्रह है. इसलिए शनि के फल भी राशि बदलने से कुछ समय पहले व राशि बदलने के कुछ समय बाद तक देखे जा सकते है (Saturn is a slow moving planet).

कर्क राशि से शनि गोचर की समाप्ति(End of Sadhesati from the sign of Cancer) 
शनि का कन्या राशि मे प्रवेश इस लिए भी महत्व रखता है . क्योकि कर्क राशि से शनि की साढेसाती 10 सितम्बर को समाप्त हो जायेगी अब कर्क राशि वाले राहत की सांस ले सकेगे (The sadesati on the people of Cancer moonsign will end on 10 September). पर कर्क राशि के जातको की स्थिति मे सुधार आने मे करीब एक माह का समय लग सकता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि जाते न्जाते लात मारकर जाते है ऎसा कहा जाता है.

कन्या राशि से शनि अपनी तीसरी दृ्ष्टि से वृ्श्चिक राशि को देखते है (Saturn has a third-aspect on the Scorpio Sign). शनि का संबध इस राशि से होने से संपादन, लेखन, प्रकाशन व मीडिया से जुडे कामो मे विवाद उठने  की संभावना रहेगी. कन्या राशि के व्यक्तियों को अपने मित्रो को अपना पूरा सहयोग देना चाहिए.

अपने सम्पूर्ण जीवन की शनि साढ़ेसाती रिपोर्टhttp://astrobix.comसे निशुल्क प्राप्त करने के लिये यहां क्लिक कीजिये

शनि गुरु का षड़ाष्टक योग (The Yoga of Saturn and Jupiter in 6/8 axis)
आने वाले एक साल मे शनि-गुरु षडाष्टक योग मे रहेगे (Saturn will in Shadashtak Yoga with Jupiter the next year). इसलिए अक्तुबर 2009 से 20  तक का समय शि़क्षा पद्वति मे कुछ परिवर्तन का रहेगा. इस समय मे बच्चो का स्वास्थय भी जल्द ही प्रभावित होने की संभावना रहेगी.  विदेशो से भी संबध खराब होने के योग बन रहे है. साझेदार व्यापार मे भी परेशानियां बनी रहेगी.

मिथुन एवं कुम्भ राशि के लिये शनि की ढैय्या (Dhaiya of Saturn : Gemini and Aquaries)
शनि के कन्या राशि मे प्रवेश से मिथुन राशि का कंटक शनि (Kantak Shani) व कुम्भ राशि वाले व्यक्तियों के लिए अष्टम शनि की ढैय्या (Dhaiya of Ashtam Shani) आरम्भ हो जायेगी. जो करीब ढाई साल के लिए रहेगी. मिथुन राशि के लिए ढाई वर्ष का समय बहुत खराब नही रहेगा. कुम्भ राशि शनि की अपनी राशि है फिर भी इस राशि के व्यक्तियों को इस समय मे अपने आजीविका क्षेत्रो मे श्रमिकों से होने वाले कष्टो से सावधान रहना चाहिए (People of Moonsign Aquarius should be careful of labor issues).

Tags

Categories


Please rate this article:

1.50 Ratings. (Rated by 1 people)