स्वाति नाडी मुहूर्त (Swati Nadi Muhurtha)



स्वाति नाडी मुहूर्त (Swati Nadi Muhurtha) के रविवार के दिन संतान गोद लेने का कार्य करने पर इस कार्य में सफलता प्राप्त होती है. इस मुहूर्त समय में संतान के कार्यो सुगमता से किये जा सकते है. स्वाति नाडी (Swati Nadi) की सोमवार की अवधि में कृ्षि संबन्धी कार्य नहीं करने चाहिए (Do not perform agricultural acts in this Nadi Muhurtha on Monday). अन्यथा फसल की हानि होने की संभावनाएं बनती है.

स्वाति नाडी (Swati Nadi) की मंगलावार की अवधि को विवाह कार्य के लिये प्रयोग नहीं करना चाहिए. अन्यथा वर-वधू में मनमुटाव की स्थिति रहने की संभावनाएं बनती है. इस नाडी के बुधवार के दिन को व्यापार के विस्तार के लिये प्रयोग किया जा सकता है (He can expand his business in this Nadi Muhurtha on Wednesday). व्यापार की नई बडी योजनाओं पर कार्य आरम्भ करने के लिये यह समय अनुकुल रहता है.

गुरुवार के दिन की स्वाति नाडी (Swati Nadi) में वाद-विवाद में विजय प्राप्त होती है. इस समय में भाषण व तर्क संबन्धी कार्य करने पर भी सफलता प्राप्त हो सकती है. शुक्रवार के दिन स्वाति नाडी (Swati Nadi) में जो भी कार्य आरम्भ किया जाता है. उस कार्य में कठिनाईयां आने की संभावना बनती है. इसलिये कठिनाईयों से बचने के लिये इस समय को मुहूर्त कार्यों के लिये प्रयोग नहीं करना चाहिए.

शनिवार की स्वाति नाडी (Swati Nadi) अवधि में पडौसी दुश्मन देश पर आक्रमण करने के लिये अनुकुल रहता है. इस अवधि में आक्रमण आरम्भ करने पर दुसरे देश पर विजय प्राप्ति की संभावनाएं बनती है.

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments