पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha)



पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha) रविवार के दिन देवी-देवताओं की प्रतिमा की प्रतिष्ठा करने का कार्य करना चाहिए (establishment of deities in this Nadi Muhurtha on Sunday). पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha) समय में प्राण-प्रतिष्ठा का कार्य करने पर मूर्ति में सदैव के लिये प्राण आने की संभावनाएं बनती है. सोमवार की नाडी अवधि में पहली बार ग्रह प्रवेश करने के लिये इस नाडी समय का प्रयोग करना चाहिए.

पुनर्वसु नाडी (Punarvasu Nadi) की मंगलवार की अवधि में व्यक्ति को समझौते संबन्धी कार्य करने चाहिए. यह नाडी शान्ति स्थापित करने के कार्यो के भी अनुकुल रहती है. इस अवधि में व्यक्ति मध्यस्थ के रुप में कार्य कर लाभ प्राप्त कर सकता है.

बुधवार के दिन पुनर्वसु नाडी अवधि में व्यक्ति जिस भी कार्य को आरम्भ करता है उसे उस कार्य में सफलता प्राप्त होती है. इसलिये इस समयावधि में बडी योजनाओं पर कार्य शुरु करना उतम रहता है. मुश्किल कार्यो को सुगमता से करने के लिये पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha) समय का प्रयोग किया जा सकता है.

गुरुवार की पुनर्वसु नाडी (Punarvasu Nadi) में व्यक्ति को ऎसे कार्य आरम्भ नहीं करने चाहिए. जिनमें बल व शक्ति का प्रयोग होता है. अन्यथा शक्ति के व्यर्थ होने की संभावनाएं बनती है. पुनर्वसु नाडी (Punarvasu Nadi) समय में व्यक्ति को खेती के कार्यो को आरम्भ नहीं करना चाहिए. खेती से जुडे कार्यो में भूमि पर हल नहीं चलाना चाहिए

शुक्रवार के दिन पुनर्वसु नाडी (Punarvasu Nadi) समय को व्यक्ति जब मुहूर्त समय के लिये प्रयोग करता है. तो उस कार्य में मानसिक चिन्ताएं बनी रहने की संभावना बनती है. इससे व्यक्ति के सुखों में कमी होती है. भौतिक सुख-सुविधाओं में बढोतरी करने के लिये भी पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha) समय को प्रयोग नहीं करना चाहिए. पुनर्वसु नाडी अवधि में ऎश्वर्य से जुडी वस्तुएं क्रय नहीं करनी चाहिए. इस अवधि में वस्तुएं खरीदने पर यह सुखों में वृ्द्धि करने के स्थान पर परेशानियों को बढाने में सहयोग करती है.

शनिवार के पुनर्वसु नाडी (Punarvasu Nadi) समय में जिस योजना पर कार्य आरम्भ किया जाता है उस योजना के कार्यो को पूरा करने के लिये अधिक मेहनत करनी पडती है (You may do a lot of hard work to complete your projectif you will start it in this Nadi Muhurtha on Sunday). पुनर्वसु नाडी मुहूर्त (Punarvasu Nadi Muhurtha) में शुभता की कमी के कारण व्यक्ति को इस योजना के कार्यो को एक से अधिक बार करना पड सकता है.

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

0 Comments

1-10 Write a comment

  1. 19 July, 2010 10:34:51 AM indu

    Name-indudob- 14 aug 1985tob- 11.10 ampob- delhiWhen will i get married. It will be a love marriage or arrange marriage