हस्त नाडी मुहूर्त (Hast Nadi Muhurtha)



हस्त नाडी (Hast Nadi) अवधि में रविवार के दिन बातचीत के जरिये काम पूरे होते है. इसलिये हस्त नाडी मुहूर्त (Hast Nadi Muhurtha) के इस समय में ऎसे सभी कार्य करने चाहिए. जो वार्तालाप में कमी के कारण अब तक किसी न किसी कारण से पूरे नहीं हो सके थे. हस्त नाडी (Hast Nadi) अवधि में जिस भी विषय पर बातचीत आरम्भ की जाती है. उस कार्य में सफलता प्राप्त होने की संभावना बनती है.

सोमवार के दिन की नाडी अवधि को प्रवेश कार्यो के लिये प्रयोग किया जा सकता है (He can enter in his new home in this Nadi Muhurtha on Monday). इसलिये हस्त नाडी (Hast Nadi) मुहूर्त (Hast Nadi Muhurtha) की अवधि में व्यक्ति प्रवेश संबन्धी सभी कार्य कर सकता है. ग्रह प्रवेश- वधू प्रवेश जैसे कार्यो के लिये इस मुहूर्त का प्रयोग किया जा सकता है.

मंगलवार की नाडी अवधि में व्यक्ति को विवाह नहीं करना चाहिए. हस्त नाडी (Hast Nadi) में विवाह कार्य करने पर व्यक्ति को समय से पहले ही अपना जीवन साथी खोना पड सकता है (Do not marry in this Nadi Muhurtha on Tuesday). इस प्रकार के अशुभ प्रभावों से बचने के लिये व्यक्ति को इस समयावधि में विवाह नहीं करना चाहिए.

बुधवार के दिन हस्त नाडी (Hast Nadi) मुहूर्त समय को अपने अधिकारिक वृ्द्धि के लिये प्रयोग किया जा सकता है. गुरुवार की नाडी की अवधि में परिवार व मित्रों से संबन्धित कोई कार्य नहीं करना चाहिए(He should not perform any act for his friends and relatives in the Hast Nadi Muhurtha on Wednesday) . इस समय में इनसे जुडा कोई कार्य करने पर संबन्धों में मतभेद आने की संभावनाएं बनती है.

शुक्रवार के दिन की नाडी में धन से जुडे कार्य करने पर धन की हानि होती है. इस मुहूर्त अवधि में धन व लाभ के कार्य नहीं करने चाहिए. शनिवार की हस्त नाडी में आरोग्य संबन्धी कार्य किये जा सकते है. रोगी को ठिक करने के लिये इस समय में ईलाज आरम्भ किया जा सकता है.

Tags

Categories


Please rate this article:

1.50 Ratings. (Rated by 1 people)