शनि साढेसाती के तीन चरण - Three Steps of Shani Sade Sati and you



शनि साढेसाती (Shani Sade Sati) में शनि तीन राशियों पर गोचर करते है. तीन राशियों पर शनि के गोचर को साढेसाती (Shani Sade Sati) के तीन चरण के नाम से भी जाना जाता है. अलग- अलग राशियों के लिये शनि के ये तीन चरण अलग - अलग फल देते है. शनि कि साढेसाती के नाम से ही लोग भयभीत रहते है.

जिस व्यक्ति को यह मालूम हो जाये की उसकी शनि की साढेसाती चल रही है, वह सुनकर ही व्यक्ति मानसिक दबाव में आ जाता है. आने वाले समय में होने वाली घटनाओं को लेकर तरह-तरह के विचार उसके मन में आने लगते है.

शनि की साढेसाती को लेकर जिस प्रकार के भ्रम देखे जाते है. वास्तव में साढेसाती का रुप वैसा बिल्कुल नहीं है.  आईये शनि के चरणों को समझने का प्रयास करते है-

साढेसाती चरण-फल विभिन्न राशियों के लिये
साढेसाती का प्रथम चरण (first step of Shani Sade Sati) - वृ्षभ, सिंह, धनु राशियों के लिये कष्टकारी होता है. द्वितीय चरण या मध्य चरण- मेष, कर्क, सिंह, वृ्श्चिक, मकर राशियों के लिये अनुकुल नहीं माना जाता है. व अन्तिम चरण- मिथुन, कर्क, तुला, वृ्श्चिक, मीन राशि के लिये कष्टकारी माना जाता है.

इसके अतिरिक्त तीनों चरणों के लिये शनि की साढेसाती निम्न रुप से प्रभाव डाल सकती है-

प्रथम चरण First Step of Shani Sade Sati
इस चरणावधि में व्यक्ति की आर्थिक स्थिति प्रभावित होती है. आय की तुलना में व्यय अधिक होते है. विचारें गये कार्य बिना बाधाओं के पूरे नहीं होते है. धन विषयों के कारण अनेक योजनाएं आरम्भ नहीं हो पाती है. अचानक से धन हानि होती है. व्यक्ति को निद्रा में कमी का रोग हो सकता है. स्वास्थय में कमी के योग भी बनते है. विदेश भ्रमण के कार्यक्रम बनकर -बिगडते रह्ते है. यह अवधि व्यक्ति की दादी के लिये विशेष कष्टकारी सिद्ध होती है. मानसिक चिन्ताओं में वृ्द्धि होना सामान्य बात हो जाती है. दांम्पय जीवन में बहुत से कठिनाई आती है. मेहनत के अनुसार लाभ नहीं मिल पाते है.

द्वितीय चरण Second Step of Shani Sade Sati
व्यक्ति को शनि साढेसाती की इस अवधि में पारिवारिक तथा व्यवसायिक जीवन में अनेक उतार-चढाव आते है. उसे संबन्धियों से भी कष्ट होते है. व्यक्ति को अपने संबन्धियों से कष्ट प्राप्त होते है. उसे लम्बी यात्राओं पर जाना पड सकता है. घर -परिवार से दूर रहना पड सकता है. व्यक्ति के रोगों में वृ्द्धि हो सकती है. संपति से संम्बन्धित मामले परेशान कर सकते है.

मित्रों  का सहयोग समय पर नहीं मिल पाता है. कार्यो के बार-बार बाधित होने के कारण व्यक्ति के मन में निराशा के  भाव आते है. कार्यो को पूर्ण करने के लिये सामान्य से अधिक प्रयास करने पडते है.  आर्थिक परेशानियां भी बनी रह सकती है.

तीसरा चरण third Step of Shani Sade Sati
शनि साढेसाती के तीसरे चरण में व्यक्ति के भौतिक सुखों में कमी होती है. उसके अधिकारों में कमी होती है. आय की तुलना में व्यय अधिक होते है. स्वास्थय संबन्धी परेशानियां आती है. परिवार में शुभ कार्यो बाधित होकर पूरे होते है. वाद-विवाद के योग बनते है. संतान से विचारों में मतभेद उत्पन्न होते है. संक्षेप में यह अवधि व्यक्ति के लिये कल्याण कारी नहीं रह्ती है. जिस व्यक्ति की जन्म राशि पर शनि की साढेसाती का तीसरा चरण चल रहा हों, उस व्यक्ति को वाद-विवादों से बचके रहना चाहिए.

Tags

Categories


Please rate this article:

1.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

46 Comments

1-10 Write a comment

  1. 08 December, 2010 07:55:15 AM Indar

    priy sathiyon, agar kisi inshan ke shani aur rahu ki dasha/mahadasha chal rhi ho to rojana subah sham shankar bhagwan aur kaal bhairav ka mantrochar kre(oam namah shivay & oam bhairvay namah) in garho ki dasha me akal martyu tak ho jati hai inshan ki isliye kisi buri ghatna se bachne ke liye somwar ke din shankar bhagwan ke pooja kar 'mahamartyunjay' mantar ka sahi dhang se jaap kre aur sajjno yah garh ese hai jiski dasha agar kisi par aa gyi to samjho uska vinash tay hai jindgi me bhaynkar bhuchal aa jata hai ... tan-man-dhan sab kuchh loot jata hai, bevajah apyash aur badnami ki prabal sambhavna rhti hai, lekin kuchh bhi ho bhagwan shankar aur kaal bhairav ka danda in par jarur chalta hai isliye shiv aur bhairav ka hemesha dhyan karte rhe,satkarm kre,kisi bhi prayi ladki/aurat ko sadhe sati period me buri najar se na dekhe, iske alawa aap aur jyada jankari aur upayo ke liye achhe jyotish se bhi sampark kar skte hai ... dhanywad

  2. 04 December, 2010 12:31:46 PM gangaram g ambekar.

    maine sarkari nokarime temparary me hu to maine kab parmanent ho jaunga.

  3. 03 December, 2010 04:01:44 PM manish kapoor

    AACHARYA JI NAMSTE meri date of birth 8.10.1985 TIME 3:50 AM MERA KAM SAHI SET KYU NAHI HO RAHA ME JANNA CHAHATA KI ESI KYA BAT HAI

  4. 02 December, 2010 07:58:23 PM ratan kumar modi

    mujhe sade sati third stage chal rahi hai kya mujhe partnership may kaam karna chahiya.please advice.

  5. 01 December, 2010 10:01:26 AM nisha

    mein kabhi nahi manti thi ki grah vagerah kush hote hai lekin pichle 3 saal se bhut kush meri life mein chal raha hai jo ki in sab par biswaas karwa dete hai pahle bhi achhi nahi thi life lekin itna to nahi tha.

  6. 29 November, 2010 05:47:42 AM JITENDRA SINGH NARUKA

    mera bolta naam raju hai jiski rasi tula hai ab mere upar sadesati cal rahi hai aarmbh me acsident ho gaya hai ab aage kesa rahega BATAVE

  7. 25 November, 2010 12:03:52 PM varsha rana

    meri date of birth 25.9.1957 hei.kya mere pe sade sati chal rahi hai, agar han to mera samay kesa rahega es sate sati mein.

  8. 25 November, 2010 09:09:41 AM Bhushan tyagi

    my date of birth is 09-12-1982, i want to know abt my career and marriage.

  9. 23 November, 2010 09:49:37 AM PRASHANT KUMAR THAKUR

    SIR HAMARA BHAWISYA KAISA RAHEGA? HAMEN SARKARI NAUKARI MELEGI YA NAHI HAMARE NAUKARI MEN ANBAN HOTE RAHTA HAI.

  10. 21 November, 2010 09:59:11 AM ajay kumar singh

    mera janam din 13-01-1963 dhanbad jharkhand 4.05 am ko hua hai kindly shani ke shade shati ka upay batayein