1. Category archives for: ज्योतिष योग (Astrology Yoga)

पहली तिमाही- जनवरी से मार्च 2018 वर्ष के प्रथम तिमाही के आरम्भ में व्यवसाय में साहस से सफलता प्राप्त करेंगे. आय की स्थिति में सुधार होगा.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

प्रथम तिमाही- जनवरी से मार्च 2018 व्यावसायिक की दृष्टि से यह समय आपके पक्ष में रहेगा. इस अवधि में भाग्य के सहयोग से आय में वृद्धि होगी तथा धन में बढोतरी होगी.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

पहली तिमाही- जनवरी से मार्च 2018 साल के प्रथम माह में आपके जरूरी कार्य सम्पन्न होंगे. अनेक उपलब्धियां हासिल करने करने के अवसर मिलेंगे.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

पहली तिमाही- जनवरी से मार्च 2018 मेहनत व निष्ठा से अपने कामों को पूरा कर पायेंगे इससे उच्चाधिकारियों से प्रशंसा मिलेगी. इस माह आप जिस भी काम को शुरु करेगे उसे सफलता पूर्वक पूरा कर पाएंगे.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

शुक्र ग्रह को गणन (कम्प्यूटर) का कारक माना गया है. मंगल बिजली के व सिविल इंजिनियरिंग तथा भूमि के कारक है. बुध को शिल्प, तर्क, गणना करने की योग्यता देने वाला ग्रह कहा गया है.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

अन्य व्यवसायों एवं कैरियर की भांति ही राजनीति में प्रवेश करने वालों की कुंडली में भी ज्योतिष योग होते हैं.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

कुण्डली में बनने वाले योग ही बताते है कि व्यक्ति की आजीविका का क्षेत्र क्या रहेगा. प्रशासनिक सेवाओं में प्रवेश की लालसा अधिकांश लोगों में रहती है.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

होटल प्रबन्धन एक आकर्षक कैरियर है. यदि आप होटल प्रबन्धन के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो देखिये कि कौन से ज्योतिष योग आपको इस व्यवसाय अथवा इस क्षेत्र में सफलता दिला सकते हैं.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

अधिकांश व्यक्तियों का प्रश्न होता है कि उन्हें व्यवसाय अथवा सर्विस में प्रमोशन कब मिलेगा? कुछ व्यक्तियों को अत्यधिक परिश्रम के बाद भी आशानुरूप सफलता नहीं मिल पाती है और कुछ को थोड़ी सी मेहनत से ही अच्छी सफलता मिल जाती है

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

ज्योतिषशास्त्र में शुभ योग है तो अशुभ योग भी है.शुभ योग अपने गुण के अनुसार शुभ फल(positive result) देते हैं तो अशुभ योग अशुभ फल (negative result)प्रदान करते हैं.अशुभ योगों में एक योग है विषयोग (Vishayoga) .यह किस प्रकार बनता है एवं इसका क्...

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

देवी लक्ष्मी की कृपा हम सभी प्राप्त करना चाहते हैं क्योंकि देवी लक्ष्मी ही सुख वैभव को देने वाली है.ज्योतिषशास्त्र की दृष्टि में धन वैभव और सुख के लिए कुण्डली में मौजूद धनदायक योग (Lakshmi Yoga) काफी महत्वपूर्ण होते है. देखिये कि आपकी कुण्...

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

जिस प्रकार कुण्डली में राजयोग सुख, वैभव, उन्नति और सफलता देता है उसी प्रकार विपरीत राजयोग भी शुभ फलदायी होता है. ज्योतिषशास्त्र के नियमानुसार जब विपरीत राजयोग (Vipreet Rajyoga) बनाने वाले ग्रह की दशा चलती है तब परिस्थितयां तेजी से बदलती है ...

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »

आज वैभव व फैशन का युग है. आज का युग दिखावे का रह गया है. फैशन की दुनिया (Fashion Designer Career) युवाओं को विशेष रुप से लुभाती है. इसके मायाजाल से भला कौन और कब तक बचा है.

Posted in ज्योतिष योग (Astrology Yoga) | और पढो »