Home | वैवाहिक | सुखी वैवाहिक जीवन के लिए ज्योतिषीय सलाह (Astrological suggestion for happy married life)

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए ज्योतिषीय सलाह (Astrological suggestion for happy married life)

Font size: Decrease font Enlarge font
कुण्डली मिलान से पहले (Before kundle Milan)
विवाह से पूर्व इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वर और कन्या की आयु में अधिक अंतर नहीं हो.आर्थिक स्थिति के कारण भी पारिवारिक जीवन में कलह उत्पन्न होता है अत: आर्थिक मामलों की अच्छी तरह जांच पड़ताल करने के बाद ही विवाह की बात आगे चलाना चाहिए.संभव हो तो वर और वधू की मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की भी जांच करवा लेनी चाहिए इससे विवाह के पश्चात आने वाली बहुत सी उलझनें सुलझ जाती हैं.

कुण्डली और गुण मिलान (Kundli and Guna milan)
उपरोक्त बातों की जांच पड़ताल करने के बाद वर और वधू की कुण्डली मिलान (Birth Chart Matching)  कराना चाहिए.कुण्डली मिलान (marriage Match Making)  करते समय जन्म कुण्डली की सत्यता पर भी ध्यान देना चाहिए.मेलापक में 36 गुणों में से कम से कम 18 गुण मिलना शुभ होता है.मेलपाक में 18 गुण होने पर इस इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि गण मैत्री और नाड़ी दोष नहीं हो.वर वधू की राशि का मिलान भी करना चाहिए.राशि मिलान के अनुसार वर और कन्या क्रमश: अग्नि एवं वायु तत्व तथा भूमि एवं जल तत्व के होने पर वैवाहिक जीवन में सामंजस्य बना रहता है.

मेलापक में राशि विचार (Melapak Rashi Vichar)
वर और कन्या की राशियों के बीच तालमेल का वैवाहिक जीवन पर काफी असर होता है.ज्योतिषशास्त्र के अनुसार अगर वर और कन्या की राशि समान हो तो उनके बीच परस्पर मधुर सम्बन्ध रहता है.दोनों की राशियां एक दूसरे से चतुर्थ और दशम होने पर वर वधू का जीवन सुखमय होता है.तृतीय और एकादश राशि होने पर गृहस्थी में धन की कमी नहीं रहती है.ध्यान देने योग्य बात यह भी है कि वर और कन्या की कुण्डली में षष्टम भाव, अष्टम भाव और द्वादश भाव में समान राशि नहीं हो.

वर और कन्या की राशि अथवा लग्न समान होने पर गृहस्थी सुखमय रहती है परंतु गौर करने की बात यह है कि राशि अगर समान हो तो नक्षत्र भेद होना चाहिए अगर नक्षत्र भी समान हो तो चरण भेद आवश्यक है.अगर ऐसा नही है तो राशि लग्न समान होने पर भी वैवाहिक जीवन के सुख में कमी आती है.

कुण्डली में दोष विचार (Kundli Dosha Vichar)
विवाह के लिए कुण्डली मिलान करते समय दोषों का भी विचार करना चाहिए.कन्या की कुण्डली में वैधव्य योग (Baidhavya Yoga), व्यभिचार योग, नि:संतान योग, मृत्यु योग एवं दारिद्र योग (Daridra Yoga) हो तो ज्योतिष की दृष्टि से सुखी वैवाहिक जीवन के यह शुभ नहीं होता है.इसी प्रकार वर की कुण्डली में अल्पायु योग, नपुंसक योग, व्यभिचार योग, पागलपन योग एवं पत्नी नाश योग रहने पर गृहस्थ जीवन में सुख का अभाव होता है.

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कन्या की कुण्डली में विष कन्या योग (Vish Kanya Yoga)  होने पर जीवन में सुख का अभाव रहता है.पति पत्नी के सम्बन्धों में मधुरता नहीं रहती है.हलांकि कई स्थितियों में कुण्डली में यह दोष प्रभावशाली नहीं होता है अत: जन्म कुण्डली के अलावा नवमांश और चन्द्र कुण्डली से भी इसका विचार करके विवाह किया जा सकता है.

Comments (8 posted):

Asma Attar on 27 April, 2010 09:40:57
avatar
how is my married life. SAntan sukh hai k nahi.
shweta.anmol.chaudhari on 14 May, 2010 08:25:09
avatar
meri shadi 29th no 2010 ko hoe hai muze ye janana hai ki hame bataya gaya tha ki shadi ke bad mere husband ki death hogi ye such hai kya muze plz batao
mannat gupta on 15 May, 2010 01:27:10
avatar
my name mannat,my dob 15 may 1985, time 2.47,birt place in lucknow.... i want to ask .how will my husband , his profession.when i will get married & how'll my marrige life......plz reply me
rajni on 01 June, 2010 09:34:38
avatar
apki batien sach lagti hain
samar tandon on 02 June, 2010 06:08:15
avatar
DOB 28/12/1974, DOT, 2:10:00 AM, POB : Bareilly (Uttar Pradesh) INDIA

I married on 11/02/2008 with a double manglik girl, she is living separately from 17/05/2009. Her residence only 200 Mtr. far from my house. But I do not know what she wants. Come back or divorce. please help
jyoti on 18 August, 2010 04:59:39
avatar
mujey batiye ka mere shadi ke baad carrier mai a gay barney ke chance hi
sanika on 24 August, 2010 09:27:17
avatar
Mere shadi ko tin sal ho gaye hai. kya mere pathi muze jivenbhar satth denge,
mere life age kasi hogi. plz muze batthao.
dushyant on 04 September, 2010 08:26:57
avatar
meri sadi 9/5/2005 ko ti my wife name is sunita ihave a son some time some miss understaing in both what we meet again this missunderstaing at 13/5/10 ko haui

Post your comment comment

Please enter the code you see in the image: