Home | वैवाहिक | मंगली दोष (Manglik Dosha)

मंगली दोष (Manglik Dosha)

Font size: Decrease font Enlarge font
image Manglik Dosha

मंगल उष्ण प्रकृति का ग्रह है.इसे पाप ग्रह माना जाता है. विवाह और वैवाहिक जीवन में मंगल का अशुभ प्रभाव सबसे अधिक दिखाई देता है.

मंगल दोष जिसे मंगली के नाम से जाना जाता है इसके कारण कई स्त्री और पुरूष आजीवन अविवाहित ही रह जाते हैं.इस दोष को गहराई से समझना आवश्यक है ताकि इसका भय दूर हो सके.

मंगली दोष का ज्योतिषीय आधार (Astrological analysis of Manglik Dosha)
वैदिक ज्योतिष में मंगल को लग्न, द्वितीय, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम और द्वादश भाव में दोष पूर्ण माना जाता है.इन भावो में उपस्थित मंगल वैवाहिक जीवन के लिए अनिष्टकारक कहा गया है.जन्म कुण्डली में इन पांचों भावों में मंगल के साथ जितने क्रूर ग्रह बैठे हों मंगल उतना ही दोषपूर्ण होता है जैसे दो क्रूर होने पर दोगुना, चार हों तो चार चार गुणा.मंगल का पाप प्रभाव अलग अलग तरीके से पांचों भाव में दृष्टिगत होता है जैसे:

लग्न भाव में मंगल (Mangal in Ascendant )
लग्न भाव से व्यक्ति का शरीर, स्वास्थ्य, व्यक्तित्व का विचार किया जाता है.लग्न भाव में मंगल होने से व्यक्ति उग्र एवं क्रोधी होता है.यह मंगल हठी और आक्रमक भी बनाता है.इस भाव में उपस्थित मंगल की चतुर्थ दृष्टि सुख सुख स्थान पर होने से गृहस्थ सुख में कमी आती है.सप्तम दृष्टि जीवन साथी के स्थान पर होने से पति पत्नी में विरोधाभास एवं दूरी बनी रहती है.अष्टम भाव पर मंगल की पूर्ण दृष्टि जीवनसाथी के लिए संकट कारक होता है.

द्वितीय भाव में मंगल (Mangal in Second Bhava)
भवदीपिका नामक ग्रंथ में द्वितीय भावस्थ मंगल को भी मंगली दोष से पीड़ित बताया गया है.यह भाव कुटुम्ब और धन का स्थान होता है.यह मंगल परिवार और सगे सम्बन्धियों से विरोध पैदा करता है.परिवार में तनाव के कारण पति पत्नी में दूरियां लाता है.इस भाव का मंगल पंचम भाव, अष्टम भाव एवं नवम भाव को देखता है.मंगल की इन भावों में दृष्टि से संतान पक्ष पर विपरीत प्रभाव होता है.भाग्य का फल मंदा होता है.

चतुर्थ भाव में मंगल (Mangal in Fourth Bhava)
चतुर्थ स्थान में बैठा मंगल सप्तम, दशम एवं एकादश भाव को देखता है.यह मंगल स्थायी सम्पत्ति देता है परंतु गृहस्थ जीवन को कष्टमय बना देता है.मंगल की दृष्टि जीवनसाथी के गृह में होने से वैचारिक मतभेद बना रहता है.मतभेद एवं आपसी प्रेम का अभाव होने के कारण जीवनसाथी के सुख में कमी लाता है.मंगली दोष के कारण पति पत्नी के बीच दूरियां बढ़ जाती है और दोष निवारण नहीं होने पर अलगाव भी हो सकता है.यह मंगल जीवनसाथी को संकट में नहीं डालता है.

सप्तम भाव में मंगल (Mangal in Seventh Bhava)
सप्तम भाव जीवनसाथी का घर होता है.इस भाव में बैठा मंगल वैवाहिक जीवन के लिए सर्वाधिक दोषपूर्ण माना जाता है.इस भाव में मंगली दोष होने से जीवनसाथी के स्वास्थ्य में उतार चढ़ाव बना रहता है.जीवनसाथी उग्र एवं क्रोधी स्वभाव का होता है.यह मंगल लग्न स्थान, धन स्थान एवं कर्म स्थान पर पूर्ण दृष्टि डालता है.मंगल की दृष्टि के कारण आर्थिक संकट, व्यवसाय एवं रोजगार में हानि एवं दुर्घटना की संभावना बनती है.यह मंगल चारित्रिक दोष उत्पन्न करता है एवं विवाहेत्तर सम्बन्ध भी बनाता है.संतान के संदर्भ में भी यह कष्टकारी होता है.मंगल के अशुभ प्रभाव के कारण पति पत्नी में दूरियां बढ़ती है जिसके कारण रिश्ते बिखरने लगते हैं.जन्मांग में अगर मंगल इस भाव में मंगली दोष से पीड़ित है तो इसका उपचार कर लेना चाहिए.

अष्टम भाव में मंगल (Mangal in Eigth Bhava)
अष्टम स्थान दुख, कष्ट, संकट एवं आयु का घर होता है.इस भाव में मंगल वैवाहिक जीवन के सुख को निगल लेता है.अष्टमस्थ मंगल मानसिक पीड़ा एवं कष्ट प्रदान करने वाला होता है.जीवनसाथी के सुख में बाधक होता है.धन भाव में इसकी दृष्टि होने से धन की हानि और आर्थिक कष्ट होता है.रोग के कारण दाम्पत्य सुख का अभाव होता है.ज्योतिष विधान के अनुसार इस भाव में बैठा अमंलकारी मंगल शुभ ग्रहों को भी शुभत्व देने से रोकता है.इस भाव में मंगल अगर वृष, कन्या अथवा मकर राशि का होता है तो इसकी अशुभता में कुछ कमी आती है.मकर राशि का मंगल होने से यह संतान सम्बन्धी कष्ट देता है।

द्वादश भाव में मंगल (Mangal in Twelth Bhava)
कुण्डली का द्वादश भाव शैय्या सुख, भोग, निद्रा, यात्रा और व्यय का स्थान होता है.इस भाव में मंगल की उपस्थिति से मंगली दोष लगता है.इस दोष के कारण पति पत्नी के सम्बन्ध में प्रेम व सामंजस्य का अभाव होता है.धन की कमी के कारण पारिवारिक जीवन में परेशानियां आती हैं.व्यक्ति में काम की भावना प्रबल रहती है.अगर ग्रहों का शुभ प्रभाव नहीं हो तो व्यक्ति में चारित्रिक दोष भी हो सकता है..भावावेश में आकर जीवनसाथी को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं.इनमें गुप्त रोग व रक्त सम्बन्धी दोष की भी संभावना रहती है.

यदि आप दो कुंडलियों का मिलान करना चाहते हैं या किसी जातक के मांगलिक होने या न होने के बारे में जानना चाहते हैं तो http://astrobix.com पर जाकर कुंडली का मांगलिक चैक कर सकते हैं

Comments (20 posted):

Nemaram on 28 April, 2009 02:35:36
avatar
Respected Acharya ji, Remedy for Maanglik,if Mangal in 12th House(neech ka Managal) with sun, Moon, Venus.
amit nema on 29 April, 2009 11:58:23
avatar
site achhi he.par hindi me kundli nahi aa rahi he krpya hindi me bheje.
Anil Chakravarty on 25 June, 2009 01:38:31
avatar
This is very much stressed in Vedic Astrology that Mars in certain houses creates difficulties for harmony in marriage and relationship. But there is some exception also. For the first house if the sign is Aries, for the forth sign if it is Scopio, for the seventh if it is Capricorn or pisces, for the eighth if it is Cancer, and for the 12th if it is Sagittarious.
There are some factors which neutralise this Yog such as if Rahu conj Mars at Kendra or if Sat at Kendra. So only placement of Mars in certain Houses should not be interpreted simplistically. Other important factors should be incorporated while analising any BIRTH CHART. This I have experianced in my 12 years Vedic Astrological journy.- Anil Chakravarty
Harshvardhan on 28 August, 2009 02:28:39
avatar
Kya mangali boy and mangali girl marriage should not be on TUESDAY
swapneel on 07 November, 2009 05:53:01
avatar
me apni detail janna chahta hu ki kya meri kundli manglik dosh he mera
DOB:- 25/01/1981
Time :- 08.10 AM
place :- Gwalior MP
usha rani on 26 November, 2009 03:30:19
avatar
kya main mangali ho.

आप अपना मंगली चैक निम्न लिंक से कर सकते हैं
http://astrobix.com/marriage/manglikcheck/
dhruv saxena on 19 June, 2010 09:49:51
avatar
please me ghor mangli hoon mera dosh khatam karne ka solution batayo
Nirnjan on 20 July, 2010 06:16:24
avatar
My Date of birth is 27-03-1989 time 11:40 AM I want known that am i Mangli
Ashish K Jain on 31 July, 2010 09:25:19
avatar
i am not a manglik but i want to marriage from manglik girl it is ok or not pls reply on urgent base
pt.satyarthbhavijksherwal on 28 August, 2010 12:40:52
avatar
aderniye guru ji namaskar main manglik puja vidhi janna chahta hun ki yah puja kaise ki jati hai or puran roop se manglik dosh ke bare main jankari chahta hun ager kisi ne iski puja kara li ho to kya yah dos hamesha ke liye mith jayega ya nahi puja shanti ke bad kise se bhi shadi ker sakte hai ya fir mangliki se hi ya kise bhi yah sab janna chahta hun
nitin on 08 September, 2010 07:36:21
avatar
muze mangal dosh hai shadi ho gai busness me kuch prabhav pad sakta hai kay
MOHIT on 11 September, 2010 03:19:55
avatar
panditji, mere lagna me manglik dosh hai. me chahta hu ki mera ye dosh shigra samapt ho jaye .kriya aap urgent sujhav de. thanku
shivani on 22 September, 2010 07:41:28
avatar
please me mangli hoon mera dosh khatam karne ka solution batayo
name-shivani
29-12-1987
age-23
time-04:00AM
jalandhar
neelam on 22 September, 2010 10:03:06
avatar
Namaste sir,my birth date-22/04/1981 and time6:48pm gwalior.
meri kundali main saptam bhav main (mesh rashi)mangal,surya,budha,shukra sath main baithhe hai.to shaadi k liye main manglik dekhu ya bina manglik bhi chalega.
deepika on 14 October, 2010 06:29:01
avatar
meri sadhi me 2year se problam a rahi hai, ladke melti hai par sadhi nahe hoti hai,
rahul antil on 27 October, 2010 04:16:13
avatar
kya main manglik hu meri date of birth 24 august 2003 hai please meri rashi or or mera future or meri habbits ke bare main bataiye
rahul antil on 27 October, 2010 04:30:00
avatar
date of birth is 24th august and i want to know wether iam manalik if yes what i to do and what are the causes and tell me about me and about my future
charanjit singh on 10 November, 2010 01:19:30
avatar
i want to know the exact date for the marriage of my son whose particulars are as under:
Date of birth 09.09.1980
Time of birth 12.05 noon
Place of birth Bhatinda (Punjab)
please help me as i am very woried about the marriage of my son.
vikram singh on 12 November, 2010 04:05:09
avatar
kya hota hi maglik
sakshi tiwari on 16 November, 2010 11:30:37
avatar
i m not manglik but i wanna marry to manglik boy is this possible plzzzz help me

Post your comment comment

Please enter the code you see in the image: