Home | मूहूर्त | विशाखा नाडी मुहूर्त व अनुराधा नाडी मुहूर्त Vishakha Nadi Muhurtha and Anuradha Nadi Muhurtha

विशाखा नाडी मुहूर्त व अनुराधा नाडी मुहूर्त Vishakha Nadi Muhurtha and Anuradha Nadi Muhurtha

Font size: Decrease font Enlarge font
image Bhargava Nadi Muhurtha

भार्गव नाडी मुहूर्त निकालने के लिये सुबह सूर्योदय से सूर्यास्त तक के समय को कुल 60 घटियों में बांटा जाता है. इस घटी लगभग 24 मिनट की होती है (each Ghati is of the 24 minutes).

इस प्रकार 24 मिनट की 60 घटियां बनती है. ज्योतिष शास्त्र में जिस प्रकार दिन मान व रात्रिमान की होराएं निकाली जाती है. ठिक उसी प्रकार पूरे दिन समय को नाडियों में विभाजित किया जाता है.

इन नाडियों को नाडी मुहूर्त के नाम से जाना जाता है. इस मुहूर्त को ऋषि भार्गव ने बनाया है. इसलिये इसे भार्गव नाडी मुहूर्त के नाम से जाना जाता है.

भार्गव ऋषि का यह मत है कि अन्य तत्वों के शुभ होने पर भी अगर नाडी समय शुभ नहीं है तो व्यक्ति को मुहूर्त में सभी शुभ फलों की प्राप्त नहीं होती है.

नाडी मुहूर्त का आरम्भ:- ( Beginning of Nadi Muhurtha)

इस मुहूर्त को निकालने के लिये नाडियों का प्रारम्भ विशाखा नक्षत्र से होता है. ये नाडी नक्षत्र चन्द्रमा की 30 अवस्थाएं है. सूर्योदय के बाद की एक घटी को विषादि नाडी मुहूर्त कहा जाता है. सूर्य से लेकर सूर्यास्त तक 30 मुहूर्त बनते है. 27 मुहूर्त 27 नक्षत्रों के नाम अनुसार है. 28वां मुहूर्त ज्योत्सना, 29वां मुहूर्त मैत्री, 30वां मुहूर्त संध्या (The 28th is Jyotsna, 29th is Maitri and 30th is Sandhya). यही 30 मुहूर्त रात में भी इसी क्रम से होते है. प्रत्येक नाडी से प्राप्त होने वाले फल अलग होते है.

विशाखा नाडी मुहूर्त:- ( Vishakha Nadi Muhurtha)

विशाखा नाडी मुहूर्त में रविवार के दिन विवाह कार्य संपन्न करने का कार्य किया जा सकता है . सोमवार के दिन इस मुहुर्त में शुभ कार्य किये जा सकते है (Auspicious events can be done on Monday in this Muhurtha). मंगलवार के दिन विशाखा नाडी मुहूर्त में कार्य करने पर मन में दु:ख की भावना रहने की संभावना रहती है. बुधवार के दिन इस मुहुर्त समय में कार्य आरम्भ करने पर कोई बुरी खबर सुनने को मिल सकती है.

विशाखा मुहूर्त में गुरुवार के दिन कार्य आरम्भ करने पर व्यक्ति के धन में वृ्द्धि होने की संभावनाएं बनती है. शुक्रवार के विशाखा मुहूर्त कार्य में जीवन साथी का सुख प्राप्त होता है. विशाखा नाडी समय मुहुर्त का प्रयोग शनिवार के दिन करने पर व्यक्ति इस अवधि में जो भी कार्य आरम्भ करता है. उस कार्य में कलह होने के बाद लाभ होने की संभावनाएं बनती है.

अनुराधा नाडी मुहूर्त:-(Anuradha Nadi Muhurtha)

अनुराधा नाडी मुहूर्त मे रविवार के दिन व्यवसाय आरम्भ करने का कार्य करना उतम फल देता है. इस नाडी मुहूर्त में व्यापारिक कार्य करने पर सफलता प्राप्त होती है. सोमवार के दिन इस मुहूर्त समय का प्रयोग यात्रा के लिये किया जा सकता है (He can select this Muhurtha on Monday for traveling purposes). सोमवार के दिन अनुराधा नाडी मुहूर्त में यात्रा जिस उद्धेश्य के लिये कि जा रही है उस उद्धेश्य की प्राप्ति होती है.

अनुराधा नाडी मुहूर्त बुधवार का होने पर शत्रुओं पर विजय प्राप्ति के कार्य करने के लिये अनुकुल रहता है. मंगलवार की अनुराधा नाडी मुहूर्त मे कोई भी कार्य आरम्भ नहीं करना चाहिए. अन्यथा कार्य की हानि होने की संभावनाएं बनती है. बुधवार के दिन अनुराधा नाडी में दिया गया ऋण वापस प्राप्त हो सकता है. अर्थात इस समय में ऋण वापस लेने का प्रयास करना लाभकारी रहता है.

गुरुवार के अनुराधा नाडी मुहुर्त में शत्रुओं को हानि पहुंचाने का कार्य सफलता पूर्वक किया जा सकता है. अर्थात अपने  विरोधियों को शान्त करने के लिये यह नाडी समय सहयोगी रहता है.  शुक्रवार के दिन अनुराधा नाडी समय में सरकारी विभागों से जुडे कार्य किये जा सकते है (Government acts can be done in Anuradha Nadi Muhurtha on Friday). यह समयावधि सरकारी कार्यो के लिये विशेष रुप से शुभ रहती है.

Comments (0 posted):

Post your comment comment

Please enter the code you see in the image: