Home | मूहूर्त

मूहूर्त

image

Raksha Bandhan Muhurat - 24th August 2010 - रक्षा बंधन मुहूर्त 24 अगस्त 2010

इस वर्ष राखी का दिन मंगलवार 24 अगस्त 2010 के दिन पड़ रहा है. इस दिन राखी बांधने के लिये कौन सा दिन शुभ रहेगा..
Full story
image

मूहूर्त के अनुसार विवाह में वर्जित काल (Prohibited Duration For Marriage in Muhurutha)

वैवाहिक जीवन की शुभता को बनाये रखने के लिये यह कार्य शुभ समय में करना उतम रहता है. अन्यथा इस परिणय सूत्र की शुभता में कमी होने की संभावनाएं बनती है. कुछ समय काल विवाह के लिये विशेष रुप से शुभ समझे जाते है. इस कार्य के लिये अशुभ या वर्जित समझे जाने वाला भी समय होता है. जिस समय में यह कार्य करना सही नहीं रहता है. आईये देखे की विवाह के वर्जित काल कौन से है.:-...
Full story

घनिष्टा नाडी मुहूर्त (Ghanishtha Nadi Muhurtha)

भार्गव ऋषि के द्वारा बनाई गई मुहूर्तों में से घनिष्ठा नाडी रविवार के दिन खेती से जुडे कार्य नहीं करने चाहिए (Ghanishtha nadi muhurtha on ...
Full story

श्रवण नाडी मुहूर्त (Shravana Nadi Muhurtha)

श्रवण नाडी मुहूर्त (Shravana Nadi Muhurtha) समय रविवार में जीवन साथी को वस्तु भेंट कार्य किये जा सकते है. इस नाडी में सोमवार के दिन ...
Full story

मूल नाडी मुहूर्त ( Moola Nadi Muhurtha)

रविवार के दिन मूळ नाडी मुहूर्त में धन लाभ से जुडे कार्य किये जा सकते है. इस मुहूर्त समय में शुभ कार्य करने पर आय ...
Full story
image

चित्रा नाडी मुहूर्त Chitra Nadi Muhurtha

चित्रा नाडी अवधि रविवार के दिन नया व्यापार आरम्भ करना चाहिए. इस मुहूर्त की शुभता से व्यापारिक लाभ प्राप्त होने की सम्भावनाएं बनती है. इस ...
Full story
image

पूर्वाफाल्गुनी नाडी व उत्तराफाल्गुनी नाडी Purvaphalguni Nadi Muhurtha and Uttaraphalguni Nadi Muhurtha

ऋषि भार्गव ने मुहूर्त को बेहद सरल बना दिया है. इससे पहले किसी भी कार्य के लिये मुहूर्त समय निर्धारित करना बेहद मुश्किल होता था. ऋषि भार्गव ने इसके लिये भार्गव नाडी मुहूर्त प्रणाली बनाई. ...
Full story
image

पुष्य नाडी मुहूर्त व अश्लेषा नाडी मुहूर्त Pushya Nadi Muhurtha and Ashlesha Nadi Muhurtha

नाडी मुहूर्त भार्गव ऋषि के द्वारा बनाई गई प्रणाली है. इस का आधार नाडी है. नाडी से अभिप्राय 24 मिनट का समय होता हे. इसके अन्तर्गत प्रत्येकदिनमान को 30 नाडियों में विभाजित किया जाता है. तथा यही नाडियांरात्रि में भी होती है. इन 30 नाडियों में से 27 नाडियां नक्षत्रों पर आधारितहै. व अन्य तीन नाडियां ज्योत्सना, मैत्री, संख्या है. ...
Full story
image

मृ्गशिरा नाडी मुहूर्त वआर्द्रा नाडी मुहुर्त - Mrigashira Nadi Muhurtha and Ardra Nadi Muhurtha

नाडी मुहूर्त भार्गव ऋषि के द्वारा बनाई गई प्रणाली है. इस का आधार नाडी है. नाडी से अभिप्राय 24 मिनट का समय होता हे. इसके अन्तर्गत प्रत्येक दिनमान को 30 नाडियों में विभाजित किया जाता है. तथा यही नाडियां रात्रि में भी होती है. इन 30 नाडियों में से 27 नाडियां नक्षत्रों पर आधारित है(27 Nadis in the 30 Nadis are based on the 27 Nakshatras) व अन्य तीन नाडियां ज्योत्सना, मैत्री, संख्या है. दिन कि नाडियों के समान रात्रि की भी 30 नाडियां होती है. इस प्रणाली का आरम्भ विशाखा नक्षत्र से किया जाता है....
Full story
image

अश्विनी नाडी मुहूर्त व भरणी नाडी मुहूर्त Ashwini Nadi Muhurtha and Bharani Nadi Muhurtha

नाडी मुहूर्त प्रणाली नक्षत्र आधारित महूर्त प्रणाली पर आधारित है. इस प्रणाली में सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के मध्य के समय को एक समान 30 घटियों में बांटा जाता है. इस प्रणाली में इसी प्रकार की 30 नाडियां रात्रिमान की अवधि से भी निर्धारित की जाती है....
 Visit website
image

शतभिषा नाडी मुहूर्त व पू. भा. नाडी मुहूर्त - Shatbhisha Nadi Muhurtha and Purvabhadrapada Nadi Muhurtha

नाडी मुहूर्त प्रणाली नक्षत्र आधारित महूर्त प्रणाली पर आधारित है. इस प्रणाली में सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के मध्य के समय को एक समान 30 घटियों में बांटा जाता है(Saint Bhargava divided time between Sunrise to Sunset into 30 Ghatis). इस प्रणाली में इसी प्रकार की 30 नाडियां रात्रिमान की अवधि से भी निर्धारित की जाती है. इस प्रकार यह प्रणाली में 60 नाडीय़ों पर आधारित है. 30 नाडीयों में 27 नाडियां नक्षत्रों की है. तथा शेष तीन नाडियां ज्योत्सना, मैत्री व संध्या के नाम से जानी जाती है. एक नाडी समय में 24 मिनट का समय होता है. आईये देखे की ये नाडियां किस प्रकार के फल देती है. ...
Full story
image

पू. आषाढा नाडी मुहूर्त व उ.षा. नाडी मुहूर्त - Purvashadha Nadi Muhurtha and Uttarashadha Nadi Muhurtha

भार्गव नाडी मुहूर्त का निर्माण ऋषि भार्गव ने किया है. मुहूर्त की यह प्रणाली नक्षत्रों की नाडी मुहूर्त के नाम से भी जानी जाती है. इसके अन्तर्गत संपूर्ण दिनमान को 30 नाडियों में विभाजित कर. इसकी प्रत्येक नाडी के 24 मिनट को मुहुर्त कार्य के रुप में प्रयोग किया जाता है. वार के अनुसार इन नाडी समय में कार्य आरम्भ किया जा जाता है. आईये देखे की ये नाडी समय किस प्रकार मुहुर्त कार्यो में प्रयोग किये जा सकते है. ...
 Visit website
image

विशाखा नाडी मुहूर्त व अनुराधा नाडी मुहूर्त Vishakha Nadi Muhurtha and Anuradha Nadi Muhurtha

भार्गव नाडी मुहूर्त निकालने के लिये सुबह सूर्योदय से सूर्यास्त तक के समय को कुल 60 घटियों में बांटा जाता है. इस घटी लगभग 24 मिनट की होती है (each Ghati is of the 24 minutes). ...
Full story
image

शपथ ग्रहण करने का मुहुर्त (Muhurta for oath)

प्राचीन काल में राज हुआ करते थे। राजगद्दी पर बैठने से पहले राजाओं का राज्याभिषेक होता था, राजा इस अवसर पर जनता की देखभाल अपने पुत्र के समान करने की सौगंध लेते थे, व राष्ट्रहित में कोई भी निर्णय लेने का वादा करते थे। ...
Full story
image

कला संगीत के लिए मुहुर्त विचार Muhurta for dance, Music and acting

संगीत हो नृत्य या अभिनय हो अगर आप इसमें सफलता की इच्छा रखते हैं तो इसकी उपासना करनी होती है। भारतीय दर्शन में इन कलाओं को ईश्वर का आशीर्वाद माना जाता है जो बहुत ही भाग्यशाली व्यक्तियों को प्राप्त होता है । ...
Full story
image

दग्ध योग - Dagdh Yoga

जिस तरह वार और तिथि के संयोग से योग का निर्माण होता है उसी प्रकार वार और नक्षत्र का संयोग होने पर योग का निर्माण होता है। ...
Full story
image

सम्पत्ति बंटवारे के लिए शुभ मुहुर्त - Muhurat for property Distribution

कहा जाता है कि दुनियां में संघर्ष का सबसे बड़ा कारण है सम्पत्ति। सभी व्यक्ति चाहते हैं कि उनके हिस्से में अधिक से अधिक सम्पत्ति आए इसके लिए जब भी सम्पत्ति विभाजन की बात आती है सभी हिस्सेदार अपने अपने स्वार्थ को साधने में जुट जाते हैं, इस परिस्थिति में कई बार स्थिति ऐसी हो जाती है कि आपस में कलह, विवाद एवं संघर्ष की स्थिति पैदा हो जाती है और बात अदालत तक पहु्च जाती है। ...
Full story
image

Muhurat in our daily life - मुहूर्त विचार

आम भाषा में हम जिसे शुभ और अशुभ समय कहते हैं ज्योतिषशास्त्र की भाषा में वह समय ही मुहूर्त कहलाता है.ज्योतिषशास्त्र कहता है किसी भी कार्य की सफलता की आधी गारंटी तभी मिल जाती है जब कोई कार्य शुभ मुहूर्त में किया जाता है.यही कारण है कि हमें जीवन में मुहूर्त का ध्यान रखकर कोई कार्य शुरू करना चाहिए....
Full story
image

Akshaya Tritiya - अक्षय तृतीया और आज का पंचाग

पिछले वर्ष अक्षय तृतीया के दौरान 90 टन सोने की बिक्री हुई थी. अक्षय तृ्तीया के दिन आप अपना व्यवसाय की शुरूआत भी कर सकते हैं. किसी मकान के बनाने के लिये नींव की खुदाई के लिये भी यह शुभदिन माना जाता है. ...
Full story
image

यात्रा का मुहुर्त-1 - नक्षत्र, तिथि, करण एवं वार विचार - Muhurta for journey - Nakshatra, Tithi, Karan and Var vichar

मनुष्य विभिन्न उद्देश्यों और कार्यों से जीवन में समय समय पर यात्रा करते। जब हम किसी विशेष उद्देश्य या कार्य से यात्रा करते हैं तो हमारी अपेक्षा रहती है कि जिस प्रयोजन मे हम यात्रा कर रहे हें उसमें हमें सफलता प्राप्त हो। ...
Full story

Yatra Muhurat -2 : Var Shoola, Yoga, Chandranivas, Sammukh Sukra, Parigh Dand

इस श्रृंखला में भाग 1 की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए देखते हैं कि यात्रा के समय मुर्हुत का आंकलन करते समय किन किन बातो को ध्यान में रखना चाहिए। ...
Full story
image

यात्रा का मुहुर्त- 3 - Yogni Niwas, Tara Sudhhi, Chandra Sudhhi), Ghat, Lagna

यात्रा का मुहुर्त के तीसरे भाग में अब आपका स्वागत है। इस भाग में हम जानेंगे कि योगिनी निवास, तारा, चन्द्र शुद्धि, घात व लग्न यात्रा के संदर्भ में क्या प्रभाव डालते हैं और इनका आंकलन किस प्रकार किया जाता है। ...
Full story

यात्रा मुहुर्त- 4 (Yatra Nishedha)

यात्रा का मुहुर्त के चौथे और अंतिम भाग में हम यात्रा निषेध पर विचार करेंगे...
Full story
image

दुकान खोलने का मुहुर्त (Muhurta for opening the shop)

जो भी व्यक्ति दुकान खोलते हैं उनकी आशा यही रहती है कि उनकी दुकान खूब चले। परंतु हर व्यक्ति की यह आश पूर्ण नहीं हो पाती है। दुकान खोलने वालों में कई ऐसे भी लोग होते हैं जिन्हें किन्ही कारणों से अपनी दुकान कुछ महीनों में बंद कर देनी पड़ती है ...
Full story
image

समझौता करने का मुहुर्त (Muhurta for Compromise)

कहते हैं कि लकड़ी को जितना काटा जाता है वह उतना ही पतली होती जाती है और बातों को जितना काटा जाय वह उतना ही मोटा होता जाता है। कहावत का तात्पर्य है कि लड़ाई झगड़े से कुछ हासिल नहीं होता है जितना ही बातों को बढ़ाएंगे मनमुटाव उतना ही बढ़ता जाएगा। मनमुटाव व संधर्ष को समाप्त करने का एक आसान से तरीका है समझौता। ...
Full story

वार और तिथि से बनने वाला योग - सिद्धयोग - Sidhhayoga

जब आप कोई मंगल कार्य करने की सोच रहे होते हैं तब आप ज्योतिषी से मिलकर शुभ दिन निकालने की बात करते हैं। शुभ दिन शुभ योग से बनता है चाहे, योग का निर्माण ग्रहों के मिलने से बनता है या तिथि व नक्षत्र के मिलने से बनता है या फिर तिथि और वार के मिलने से बनता है ...
Full story
image

ट्यूबबेल लगाने या टैंक खोदने का मुहुर्त - Tubewell or Pond Digging Muhurta)

धर्मग्रंथो में बताया गया है कि जल के देवता वरूण (Varuna) हैं। वरूण देव की कृपा से जल की प्राप्ति होती है। कई बार देखा जाता है कि ट्यूबबेल लगाने के बाद उससे पानी नहीं आता है या बहुत सीमित मात्रा में आता है जिससे उस ट्यूबबेल को उखाड़ कर फिर से लगाना पड़ता है या तालाब में भरपूर पानी नहीं आता है अथवा पानी कसैला होता है। ...
Full story
image

वार और तिथि से बनने वाला योग है सिद्धयोग (Combination of Day and Date makes Siddhayoga)

जब आप कोई मंगल कार्य करने की सोच रहे होते हैं तब आप ज्योतिषी महोदय से मिलकर शुभ दिन निकालने की बात करते हैं। शुभ दिन के आंकलन हेतु ज्योतिषी महोदय कई विषयों पर विचार करते हैं। इन विषयों में योग भी काफी महत्वपूर्ण स्थान रखते है। ...
Full story
image

दैनिक - ज्योतिष (Daily Astrology) - Hindi Rashifal

हम में से अधिकतर व्यक्ति अपने भविष्य के बारे में जानने को उत्सुक रहते हैं. यद्यपि उनमें से बहुत से लोगों का ज्योतिष में विश्वास नहीं होता फिर भी कौतहुल वश या शौक के कारण वो अपना दैनिक राशीफल पढ्ते है. ...
Full story