Home | सामुद्रिक | हस्त रेखा से वैवाहिक स्थिति का विवेचन (Know about Married life through Palmistry)

हस्त रेखा से वैवाहिक स्थिति का विवेचन (Know about Married life through Palmistry)

Font size: Decrease font Enlarge font
image Know about Married life through Palmistry)

हाथों की लकीरें को विधाता का लेख कहा जाता है। इस लेख को पढ़ना जिसने सीख लिया उनके लिए भूत, भविष्य वर्तमान खुली किताब की तरह होता है। इन रेखाओं में विधाता ने जीवन की छोटी से छोटी घटनाओं लिख रखा है, आप चाहें तो इनसे भाग्य, धन, जीवन, विवाह सभी प्रश्न का हल जान सकते हैं।

हाथों की लकीरें को विधाता का लेख कहा जाता है। इय लेख को पढ़ना जिसने सीख लिया उनके लिए भूत, भविष्य वर्तमान खुली किताब की तरह होता है। इन रेखाओं में विधाता ने जीवन की छोटी से छोटी घटनाओं लिख रखा है, आप चाहें तो इनसे भाग्य, धन, जीवन, विवाह सभी प्रश्न का हल जान सकते हैं।

विवाह किसी भी व्यक्ति के जीवन में काफी महत्वपूर्ण स्थान रखता है। दार्शनिकों एवं विद्वानों ने तो कहा ही है शास्त्र भी कहता है कि विवाह के पश्चात व्यक्ति दो भागों में विभक्त हो जाता है अथवा व्यक्ति का दूसरा जीवन शुरू होता है। ज्योतिषशास्त्र में जब किसी व्यक्ति के जीवन की स्थिति का विश्लेषण किया जाता है तब व्यक्ति के जीवन को दो हिस्सों में बांटकर उनका विश्लेषण किया जाता है प्रथम विवाह पूर्व और दूसरा विवाह पश्चात। आपने भी देखा होगा कुछ लोग विवाह से पहले उन्नत स्थति में रहते हैं और शादी के पश्चात उनका जीवन मुश्किल दौर से गुजरने लगता है इसके विपरीत कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो विवाह से पहले परेशानी एवं मुश्किलों हालातों का सामना करते रहते हैं और विवाह के बाद उनका जीवन कामयाब और खुशहाल हो जाता है।

आप भी अगर शादी का सपना संजोये बैठे हैं और जानने को उत्सुक हैं कि आपकी शादी कब होगी और आपकी शादी शुदा जिन्दग़ी कैसी रहेगी तो इसके लिए आपको अधिक परेशान होने की जरूरत नहीं है आप अपनी हथेली से प्रश्न पूछ कर देखिये आपको जवाब जरूर मिल जाएगा अगर आप हथेली में मौजूद रेखाओं को पढ़ना जानते हैं। हस्तरेखा विशेषज्ञ बताते हैं कि हाथ में विवाह के लिए और वैवाहिक स्थिति के लिए दो रेखाओं से विचार किया जाना चाहिए एक तो बुध पर्वत के नीचे निकलने वाली रेखा से और दूसरी शुक्र पर्वत पर मौजूद रेखा से।

आमतौर पर इस संदर्भ में बुध पर्वत की रेखा को ही महत्वपूर्ण और सर्वमान्य माना जाता है आप भी इसी रेखा को विवाह के संदर्भ में देख सकते हैं। इस पर्वत पर अगर कई रेखाएं दिखाई दे रही हैं तो इसका अर्थ यह नहीं कि सभी रेखा शादी (Marriage Line)  की है अर्थात आपकी उतनी शादी होगी। इस पर्वत पर दिखने वाली सभी रेखाओं में से वही रेखा विवाह रेखा होगी जो सबसे गहरी और लम्बी होगी अन्य रेखा किसी के साथ प्रेम सम्बन्ध को दर्शाती है।

शादी किस उम्र में होगी इस विषय में यह कहा जाता है कि बुध पर्वत के नीचे निकलने वाली विवाह रेखा (Line of marriage) अगर हृदय रेखा से मिली होती है अथवा समीप होती है तो शादी कम उम्र में होती है, उम्र के हिसाब से कहें तो इस स्थिति में 14-20 वर्ष या इससे भी कम उम्र में आपकी शादी हो जाती है। यह रेखा अगर बुध पर्वत के मध्य तक दिखाई देती है तो आपकी उम्र समान्य आयु में अर्थात 21-28 वर्ष की आयु में होती है लेकिन अगर यह रेखा बुध पर्वत के एक तीहाई यानी आध से कम आती है तो शादी काफी देर से होती है यानी 28 से 35 वर्ष की आयु में जाकर ही आपके सिर पर सेहरा सजता है।  गौरतलब बात है कि अगर विवाह रेखा के समानांतर एक वैसी ही रेखा चल रही है तो इसका अर्थ है कि आपके सिर पर दो बार सेहरा सजना लिखा है।

यह तो रही है कि आपकी शादी कब होगी। लेकिन इससे भी जरूरी है कि शादी शुदा जिन्दगी कैसी रहेगी। इस विषय में कहा जाता है कि विवाह रेखा हाथ में जितनी गहरी, साफ और स्पष्ट होती है वैवाहिक जीवन उतना सुखमय और अच्छा रहता है। यदि भाग्य रेखा चन्द्र पर्वत से निकल कर हृदय रेखा तक आ रही है और गुरू पर्वत पर गुणा का चिन्ह नज़र आ रहा है तो यह इसारा है कि आपका वैवाहिक जीवन प्रेम और आनन्द भरा होगा, विवाह के पश्चात आप और तरक्की करेंगे। हस्त रेखा विशेषज्ञ कहते हैं, विवाह रेखा का कटा होना वैवाहिक जीवन के लिए शुभ नहीं माना जाता है। इस स्थिति में या तो तलाक होता है अथवा जीवन साथी की मृत्यु होती है। यह रेखा सिरे पर कई भागों में बंटा हो तो इसका अर्थ होता है कि वैवाहिक जीवन कष्टमय रहने वाला है।

अगर जीवनसाथी के साथ अनबन रहती है या आप जानना चाहते हैं कि शादी के बाद कहीं अनबन तो नहीं रहेगी इसके लिए देखिए कि सूर्य रेखा मस्तिष्क रेखा से निकलकर बीच-बीच में टूटी तो नहीं है। अगर ऐसा है तो अपने जीवनसाथ पर विश्वास कीजिए और उन्हें समझने की कोशिश कीजिए अन्यथा किसी और के कारण आपके वैवाहिक जीवन में अशांति और अनबन रहेगी। इसके अलावा आप यह भी देखिए कि सूर्य पर्वत से निकलकर पतली सी रेखा हृदय रेखा और मस्तिष्क रेखा को कटती हुई जीवन रेखा से तो नहीं मिल रही है अगर ऐसा है तो आप समझ लीजिए आपकी कामयाबी के बीच जीवनसाथी से अनबन बहुत बड़ा कारण है।

जीवन साथी आपका साथ इस जीवन में कब तक निभायेगा यानी क्या आप उसे तन्हा छोड़ जाएंगे या वो आपको छोड़ जाएगा यह भी आप हाथ की रेखाओं से जान सकते हैं। हस्तरेखा विज्ञान कहता है अगर विवाह रेखा झुककर हृदय रेखा को छू रहा है तो इसका अर्थ है कि आप अपने जीवनसाथी को अकेला छोड़ जाएंगे। विवाह रेखा के सिरे पर क्रास का चिन्ह दिख रहा है तो यह संकेत है कि जीवनसाथी अचानक बीच सफर में छोड़कर दुनियां से विदा हो जाएगा।

नोट:  पामेस्ट्री एडवांटेज की मदद से आप हस्त रेखा विज्ञान की बारीकियों को आसानी से सीख सकते है। यह ऐसा सॉफ्टवेयर है जिनमें बेहतरीन ग्राफिक्स की सहायता से विभिन्न हाथों के प्रकार, पर्वत, रेखा, चिन्हों एवं दूसरों तथ्यों का जिक्र किया गया है। आप इसे मात्र 175 रू0 में खरीद सकते है, क्लिक करें 

Comments (14 posted):

dayanand benwal on 15 June, 2009 07:18:19
avatar
in my view i dont belive on plamatry science becoze

hatho ki lakero mai kya dekhta hai
kismat to unki bhi hoti hai jinke hath nahi hote
Rajiv Kumar Mishra on 27 June, 2009 11:46:10
avatar
mera shadhi kab hoga. larki kesi hogi.
surinder dhawan on 05 July, 2009 10:39:31
avatar
very good all most every words is right
preeti on 28 July, 2009 01:35:27
avatar
mere shadi kab hoge
preeti on 28 July, 2009 01:35:30
avatar
mere shadi kab hoge
narendra kumar on 21 November, 2009 08:24:16
avatar
meri shadi kab hogi ladki kasi hogi
tejas maniyar on 26 November, 2009 07:28:21
avatar
Name: tejas maniyar
date of birth: 7-march-1988
Time: 7:30 pm

i want to know about my married life and how will be my wife? when i will get married & whether love marriage or arranged marriage.
PALLAVI SRIVASTAVA on 03 May, 2010 09:58:56
avatar
NAME PALLAVI SRIVASTAVA DATE OF BIRTH 27-MAY-1989 MARE SHADI KAB HOGE
kapil saini on 21 May, 2010 08:27:12
avatar
i agree with Mr.dayanand benwal dayanand benwal comment "kismat to unki bhi hoti hai jinke hath nahi hote "

karm kariye kismat pichee pichee aaye gi..
vimal chopra on 24 May, 2010 11:59:53
avatar
Iam singal son of my parents. iwant simple girl
vimal chopra on 24 May, 2010 11:59:54
avatar
Iam singal son of my parents. iwant simple girl
RENU VERMA on 11 July, 2010 12:10:47
avatar
muje waffa nhi milti iske liye muje kya kerna hoga?mera lover angry nature ka hai
wo muje time nhi deta.
mamta on 14 July, 2010 01:09:44
avatar
meri shadi jis ladk k sath mai abhi hoon usk sath hogi ya nhi
ravi kant chaturvedi on 23 August, 2010 02:34:44
avatar
this is ravi kant chaturvedi B/o,21.06.82 B/P ,mathura
mere shadi kab hogi what time change my goog time

Post your comment comment

Please enter the code you see in the image: