Home | वैदिक ज्योतिष | ज्योतिष उपाय-2: गुरू, शुक्र एवं शनि - Astrological Remedies for Guru, Shukra and Shani

ज्योतिष उपाय-2: गुरू, शुक्र एवं शनि - Astrological Remedies for Guru, Shukra and Shani

Font size: Decrease font Enlarge font
image Remedies for Guru, Shukra and Shani

सभी ग्रहों की अपनी शक्ति है और वे क्षेत्र विशेष के स्वामी हैं. हमारी कुण्डली में जो ग्रह कमज़ोर होते हैं अथवा नीच या पीड़ित होते हैं उनसे हमें कष्ट मिलता है. इस स्थिति में ग्रह उपाय करना चाहिए.

बृहस्पति, शुक्र,शनि कमज़ोर, पीड़ित अथवा नीच होने पर आप कौन कौन से उपाय कर सकते हैं आइये देखें.

कमज़ोर एवं पीड़ित बृहस्पति के उपाय (Remedies for Guru)
बृहस्पति को ग्रहों का गुरू कहा गया है. इसके पीड़ित होने पर जो भी परेशानी आपको महसूस हो रही है उसके समाधान के लिए ज्योतिषशास्त्र में जो उपाय बताये गये हैं उनमें दान को काफी महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है. बृहस्पति के उपाय हेतु जिन वस्तुओं का दान करना चाहिए उनमें चीनी, केला, पीला वस्त्र, केशर, नमक, मिठाईयां, हल्दी, पीला फूल और भोजन उत्तम कहा गया है. इस ग्रह की शांति के लए बृहस्पति से सम्बन्धित रत्न का दान करना भी श्रेष्ठ होता है. दान करते समय आपको ध्यान रखना चाहिए कि दिन बृहस्पतिवार हो और सुबह का समय हो. दान किसी ब्राह्मण, गुरू अथवा पुरोहित को देना विशेष फलदायक होता है.

बृहस्पति के अन्य उपाय (Other Astrological remedies for Guru)
बृहस्पतिवार के दिन व्रत रखना चाहिए. कमज़ोर बृहस्पति वाले व्यक्तियों को केला और पीले रंग की मिठाईयां गरीबों, पंक्षियों विशेषकर कौओं को देना चाहिए. ब्राह्मणों एवं गरीबों को दही चावल खिलाना चाहिए. रविवार और बृहस्पतिवार को छोड़कर अन्य सभी दिन पीपल के जड़ को जल से सिंचना चाहिए. गुरू, पुरोहित और शिक्षकों में बृहस्पति का निवास होता है अत: इनकी सेवा से भी बृहस्पति के दुष्प्रभाव में कमी आती है. केला का सेवन और सोने वाले कमड़े में केला रखने से बृहस्पति से पीड़ित व्यक्तियों की कठिनाई बढ़ जाती है अत: इनसे बचना चाहिए.

कमज़ोर एवं पीड़ित शुक्र के उपाय (Remedies for Shukra)
शुक्र ग्रहों में सबसे चमकीला है और प्रेम का प्रतीक है. इस ग्रह के पीड़ित होने पर आपको ग्रह शांति हेतु सफेद रंग का घोड़ा दान देना चाहिए. रंगीन वस्त्र, रेशमी कपड़े, घी, सुगंध, चीनी, खाद्य तेल, चंदन, कपूर का दान शुक्र ग्रह की विपरीत दशा में सुधार लाता है. शुक्र से सम्बन्धित रत्न का दान भी लाभप्रद होता है. इन वस्तुओं का दान शुक्रवार के दिन संध्या काल में किसी युवती को देना उत्तम रहता है.

शुक्र ग्रह के अन्य उपाय ((Other Astrological remedies for Shukra):
शुक्र ग्रह से सम्बन्धित क्षेत्र में आपको परेशानी आ रही है तो इसके लिए आप शुक्रवार के दिन व्रत रखें. मिठाईयां एवं खीर कौओं और गरीबों को दें. ब्राह्मणों एवं गरीबों को घी भात खिलाएं. अपने भोजन में से एक हिस्सा निकालकर गाय को खिलाएं. शुक्र से सम्बन्धित वस्तुओं जैसे सुगंध, घी और सुगंधित तेल का प्रयोग नहीं करना चाहिए. वस्त्रों के चुनाव में अधिक विचार नहीं करें.

कमज़ोर एवं पीड़ित शनि के उपाय ( Remedies for Shani)
शनि के पीड़ित होने से ढ़ईया, साढ़े साती और कंटक शनि जैसे शनि दोष का सामना करना होता है. इन दोषों से पीड़ित व्यक्ति को जीवन में काफी कठिन स्थितियों का सामना करना होता है. इसके उपाय के लिए ज्योतिषशास्त्र में जो विधान बताये गये हैं उनमें दान, साधना और अन्य विषयों का जिक्र आया है. दान के सम्बन्ध में कहा गया है कि जिनकी कुण्डली में शनि कमज़ोर हैं या शनि पीड़ित है उन्हें काली गाय का दान करना चाहिए. काला वस्त्र, उड़द दाल, काला तिल, चमड़े का जूता, नमक, सरसों तेल, लोहा, खेती योग्य भूमि, बर्तन व अनाज का दान करना चाहिए. शनि से सम्बन्धित रत्न का दान भी उत्तम होता है. शनि ग्रह की शांति के लिए दान देते समय ध्यान रखें कि संध्या काल हो और शनिवार का दिन हो तथा दान प्राप्त करने वाला व्यक्ति ग़रीब और वृद्ध हो.

शनि ग्रह के अन्य उपाय ((Other Astrological remedies for Shani)
ज्योतिषशास्त्र कहता है शनि के कोप से बचने हेतु व्यक्ति को शनिवार के दिन एवं शुक्रवार के दिन व्रत रखना चाहिए. लोहे के बर्तन में दही चावल और नमक मिलाकर भिखारियों और कौओं को देना चाहिए. रोटी पर नमक और सरसों तेल लगाकर कौआ को देना चाहिए. तिल और चावल पकाकर ब्राह्मण को खिलाना चाहिए. अपने भोजन में से कौए के लिए एक हिस्सा निकालकर उसे दें.

शनि ग्रह से पीड़ित व्यक्ति के लिए हनुमान चालीसा का पाठ, महामृत्युंजय मंत्र का जाप एवं शनिस्तोत्रम का पाठ भी बहुत लाभदायक होता है. शनि ग्रह के दुष्प्रभाव से बचाव हेतु गरीब, वृद्ध एवं कर्मचारियो के प्रति अच्छा व्यवहार रखें. मोर पंख धारण करने से भी शनि के दुष्प्रभाव में कमी आती है.

नीच अथवा कमज़ोर शनि होने पर नहीं करें
जो व्यक्ति शनि ग्रह से पीड़ित हैं उन्हें गरीबों, वृद्धों एवं नौकरों के प्रति अपमान जनक व्यवहार नहीं करना चाहिए. नमक और नमकीन पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, सरसों तेल से बनें पदार्थ, तिल और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए. शनिवार के दिन सेविंग नहीं करना चाहिए और जमीन पर नहीं सोना चाहिए.

शनि से पीड़ित व्यक्ति के लिए काले घोड़े की नाल और नाव की कांटी से बनी अंगूठी भी काफी लाभप्रद होती है परंतु इसे किसी अच्छे पंडित से सलाह और पूजा के पश्चात ही धारण करना चाहिए.

साढ़े साती से पीड़ित व्यक्तियों के लिए भी शनि का यह उपाय लाभप्रद है. शनि का यह उपाय शनि की सभी दशा में कारगर और लाभप्रद है.

यह लेख तीन भागों में निम्नानुसार उपलब्ध है.

Comments (3 posted):

jitendra singh rao on 12 January, 2010 06:16:22
avatar
meri pareshani naukri ko laker hai. kb tk mujhe acchi naukri mil jqayegi. meri date of birth 09.09.1989 hai
pallavi on 13 January, 2010 07:55:49
avatar
meri pareshani yeh hai ki mere koi bhi kam pura nahi hota hai naukri ki hai life patner ko lay kar hai wo humko samajtey nahi hai meri date of birth hai 5-9-1978
rachna batra on 28 July, 2010 07:14:57
avatar
meri kundli main kal sarp yog ha meri shaddi nahi ho pa rahi pls.is ka koi upaye ha tto buttae

Post your comment comment

Please enter the code you see in the image: